ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशग्राउंड ब्रेकिंग सेरमनी-4: पीएम मोदी करेंगे शुभारंभ, 10 लाख करोड़ से UP रचेगा विकास और रोजगार का नया कीर्तिमान 

ग्राउंड ब्रेकिंग सेरमनी-4: पीएम मोदी करेंगे शुभारंभ, 10 लाख करोड़ से UP रचेगा विकास और रोजगार का नया कीर्तिमान 

पीएम मोदी सोमवार को लखनऊ में ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के चौथे संस्करण के उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि होंगे! पीएम के हाथों 10 लाख करोड़ रुपये से ज्‍यादा की परियोजनाओं की नींव रखी जाएगी।

ग्राउंड ब्रेकिंग सेरमनी-4: पीएम मोदी करेंगे शुभारंभ, 10 लाख करोड़ से UP रचेगा विकास और रोजगार का नया कीर्तिमान 
Ajay Singhहिन्‍दुस्‍तान ,लखनऊSun, 18 Feb 2024 06:59 AM
ऐप पर पढ़ें

Ground Breaking Ceremony-4: प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी सोमवार को लखनऊ में ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी (GBC 4.0) के चौथे संस्करण के उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि होंगे! 19 से 21 फरवरी तक चलने वाले इस मेगा इवेंट में पीएम के हाथों 10 लाख करोड़ रुपये से ज्‍यादा की करीब 14 हजार विकास परियोजनाओं की नींव रखी जाएगी। इससे प्रदेश के विकास को नई रफ्तार मिलने के साथ ही करीब 33.5 लाख से अधिक रोजगार के अवसरों का नया कीर्तिमान भी बनेगा। देश के दिग्‍ग्‍ज उद्योगपति, कई देशों के राजदूत और उच्चायुक्तों सहित भारत और विदेश से लगभग 3,500 निवेशक और अतिथि इस कार्यक्रम में शामिल होने की सम्‍भावना है।  

सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को दिल्ली रवाना होने से पहले इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान पहुंच कर ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी-4 की तैयारियों का जायजा लिया। सीएम योगी ने खासतौर पर प्रधानमंत्री समेत अन्य वीआईपी मेहमानों और निवेशकों के आवागमन, बैठने और अन्य सुविधाओं के बारे में अधिकारियों से जानकारी ली। साथ ही उन्होंने मुख्य हाल और वहां बने मंच का निरीक्षण किया। 19-21 फरवरी को होने वाली इस चौथी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में दुनिया भर के 3000 से अधिक प्रतिभागियों के प्रतिभाग करने की संभावना है। इंदिरा प्रतिष्ठान में नए इनोवेशन के जरिए 1 ट्रिलियन डॉलर इकॉनामी की ओर तेजी से कदम बढ़ाते उत्तर प्रदेश की सुदृढ़ अर्थव्यवस्था को दर्शाया जा रहा है। इसके तहत स्टील के शिपिंग कंटेनर्स को बेस बनाकर जर्मन हैंगर बनाए जा रहे हैं।

काशी,अयोध्या,मथुरा में उद्यमी करेंगे भरपूर निवेश
ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में भी पर्यटन क्षेत्र में निवेश की दृष्टि से अयोध्या, काशी और मथुरा शीर्ष पर हैं। इस मामले में बाबा विश्वनाथ की नगरी बम-बम है, वहीं अयोध्या धाम भी निवेशकों के आकर्षण का केंद्र बनकर उभरा है। कान्हा की नगरी भी निवेश का बड़ा केंद्र बनने जा रही है। हापुड़ और लखनऊ इस मामले में क्रमश चौथे और पांचवें स्थान पर हैं।

ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में पर्यटन विभाग ने 37,500 करोड़ रुपये का लक्ष्य के मुकाबले 34,200.47 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव तैयार कर लिए। इसमें सबसे ज्यादा निवेश वाराणसी में 6,740 करोड़ है। वाराणसी में कुल 35 प्रोजेक्ट हैं। इसी तरह अयोध्या में 4,812 करोड़ का निवेश है। इसमें कुल 146 प्रोजेक्ट शामिल हैं। इसमें सर्वाधिक निवेश होटल इंडस्ट्री में आया है। वहीं मथुरा में 3,598 करोड़ के 81 प्रोजेक्ट हैं, जिसमें होटल से लेकर वेलनेस सेंटर, कन्वेंशन सेंटर आदि के प्रोजेक्ट शामिल हैं।

काशी में आठ करोड़ से अधिक पयर्टक आए
वर्ष 2023 में अयोध्या में लगभग 05.76 करोड़ और काशी में लगभग 08.55 करोड़ लोगों ने भ्रमण किया। नतीजतन व्यवसायियों की आमदनी में गुणात्मक रूप से वृद्धि हुई है।

इन परियोजनाओं की रखी जाएगी आधारशिला

विभाग संस्था निवेश करोड़ रुपये परियोजनाएं

यूपीसीडा 1,42,219 3160
अतिरिक्त ऊर्जा स्त्रोत 1,24,164 177
नोएडा 72,488 292
आईटी 61,998 60,
उद्यान 60,358 1,045,
ऊर्जा 59,973 आठ,
आवास 56,885 746,
उच्च शिक्षा 53,331 43,
यूपीडा 45,148 280,
एमएसएमई 45,303 2,948,
पर्यटन 31,179 790            

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें