ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशअयोध्या दीपोत्सव में ग्रीन फायर की आतिशबाजी ने दिखाया अदभुत नजारा, रामपैड़ी पर अलौकिक दृश्य

अयोध्या दीपोत्सव में ग्रीन फायर की आतिशबाजी ने दिखाया अदभुत नजारा, रामपैड़ी पर अलौकिक दृश्य

अयोध्या दीपोत्सव में ग्रीन फायर की आतिशबाजी ने अदभुत नजारा दिखाया। 12 मिनट की आतिशबाजी देखकर श्रद्धालुओं के साथ दुनिया भर से आए राजनयिक गदगद हुए। थ्री डी होलोग्राफिक प्रोजेक्शन मैपिंग व लेजर शो हुआ।

अयोध्या दीपोत्सव में ग्रीन फायर की आतिशबाजी ने दिखाया अदभुत नजारा, रामपैड़ी पर अलौकिक दृश्य
Srishti Kunjकमलाकान्त सुन्दरम,अयोध्याSun, 12 Nov 2023 06:54 AM
ऐप पर पढ़ें

दीपोत्सव 2023 को नया आयाम देने और सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुपालन में ग्रीन म्यूजिकल फायर वर्क्स की जबरदस्त आतिशबाजी कराई। बताया गया कि यह आतिशबाजी इको फ्रेंडली है। इस आतिशबाजी का अदभुत नजारा बहुत सुहावना रहा। प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव से पहले आयोजित इस। दीपोत्सव में आतिशबाज़ी की छटा ने प्रभु श्रीराम के अवध आगमन का संदेश पूरी दुनिया को दे दिया। करीब एक किलोमीटर लंबे सरयू पुल पर आतिशबाजी का दायरा एक हजार फुट लंबा था और इस लंबाई में 11 प्वाइंट से पटाखे छुड़ाए गये। 12 मिनट के शो का आयोजन पूरे कार्यक्रम का आकर्षण रहा । इस आतिशबाजी को 54 देशों से आए प्रतिनिधियों ने भी देखा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने साथ सभी को लेकर सरयू तट पर आए और वहां बनाए गये दर्शक दीर्घा से जब उन सभी ने आतिशबाजी देखी तो वह अभिभूत हो गये और अपलक देखते रह गये। वहीं दर्शक भी मोबाइल से नजारे को कैद करते रहे। इस आयोजन के दौरान संगीत की धुन पर निकली फुलझडियां करी तीन-चार सौ फिट ऊंचाई पर जाकर धमाके के साथ इतना व्यवस्थित बिखरी न की एक अलग ही दृश्य नजर आया।

दीपोत्सव: दियों से नहाई अयोध्या, घर-घर ज्योति जली, रामधुन के बीच किया प्रभु का स्वागत

राम पैड़ी पर लाइट एण्ड साउंड शो का मुख्यमंत्री ने किया अनावरण
रामपैड़ी के दक्षिणी छोर पर स्थित मंदिरों की दीवार पर थ्री डी होलोग्राफिक के शो के जरिए रामकथा का सचित्र दर्शन कराया गया। वहीं रामधुन के बीच लेजर शो का प्रदर्शन भी दीपोत्सव को यादगार बनाने में कामयाब रहा। इस बार इस लेजर शो का दायरा भी बढ़ाया गया है और स्थाई स्वरूप दे दिया गया है। अब यह शो प्रतिदिन दो घंटे चलेगा और श्रद्धालुओं को नि: शुल्क दिखाया जाएगा। इसके लिए साठ फिट ऊंचे चार प्री फैब्रिकेटेड कालमों पर जर्मन हैंगर के जरिए करीब दो सौ फिट लंबा व तीस फिट चौड़ा पर्दा लगाया गया है। करीब 24 करोड़ की लागत से निर्मित इस परियोजना में राम पैड़ी के नहर में रंगीन फौव्वारे भी लगाए गये हैं। इसके अतिरिक्त राम पैड़ी के मंदिरों पर लेजर लाइटों के अलावा नहर के दूसरे छोर पर प्रोजेक्शन लाइटें भी लगाई गयी है। इस परियोजना का निर्माण करीब एक माह में पूरा किया गया है।

वनवास से भगवान राम के राज्याभिषेक तक की लीला का दर्शन
इस लाइट एण्ड साउंड शो कार्यक्रम में पार्श्व में संगीत के साथ पार्श्व में कथा प्रसंग व रामायण की चौपाइयों का गान के बीच पर्दे पर सुंदर चित्रण किया गया है। लंका दहन का सचित्र वर्णन का नजारा अदभुत है। हनुमान जी की पूंछ में आग लगते ही वह हवा में उड़ते और फिर आग की लपटें सम्पूर्ण स्वर्णमयी लंका को धू-धू कर इस तरह जलाती है, मानों राम पैड़ी के सारे भवनों आग की चपेट में आ गये। इसी तरह सेतुबंध रामेश्वरम का भी दृश्य बहुत ही मनोरम है।