ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशअयोध्या में भव्य दीपोत्सव तो झांकी, प्राण प्रतिष्ठा का आयोजन तो अभी बाकी 

अयोध्या में भव्य दीपोत्सव तो झांकी, प्राण प्रतिष्ठा का आयोजन तो अभी बाकी 

अयोध्या में दीपावली के अवसर पर सातवें दीपोत्सव में स्वच्छ, सुंदर व भव्य-नव्य अयोध्या की झलक दिखी है। संवत 2080 के अंतिम चरण में त्रेतायुगीन अयोध्या की परिकल्पना पूरी तरह साकार होती दिखेगी।

अयोध्या में भव्य दीपोत्सव तो झांकी, प्राण प्रतिष्ठा का आयोजन तो अभी बाकी 
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,अयोध्याTue, 14 Nov 2023 10:37 PM
ऐप पर पढ़ें

दीपोत्सव के अवसर पर अयोध्या प्रवास पर आए मुख्यमंत्री योगी ने रात्रि विश्राम के बाद दीवाली के दिन रविवार को रामलला के दर्शन के साथ हनुमानगढ़ी में भी माथा टेका। वहीं कारसेवकपुरम में उन्होंने संतों के साथ सामूहिक भेंट कर उन्हें पर्व की शुभकामना दी। इसके साथ उनसे वायदा लिया कि प्राण प्रतिष्ठा में आने वाले श्रद्धालुओं को अतिथि देवो भव की भावना की अनुभूति कराएगा। उन्होंने संतों से आग्रह किया कि पांच सौ सालों की प्रतीक्षा का अंत होने जा रहा है और हम सबके आराध्य प्रभु राम के वनवास का भी अंत होगा। इससे बड़ी खुशी दूसरी नहीं हो सकती। इस ऐतिहासिक घड़ी को यादगार और अभूतपूर्व बनाने की तैयारी अभी से होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री योगी ने संत-महंतो से लिया वचन अनायास नहीं है। उन्हें अयोध्या शहर व आसपास के बुनियादी ढांचे और सुविधाओं की भली-भांति जानकारी है। यहां के तीन स्टार होटलों व गेस्ट हाउसों के अलावा धर्मशालाओं की क्षमता दस-15 हजार से अधिक नहीं है। प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव में श्रीरामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र की ओर से आमन्त्रित अति विशिष्ट अतिथियों की संख्या ही दस हजार है जबकि अयोध्या आने वाले विशिष्ट व हर वर्ग के श्रद्धालुओं की संख्या लाखों में होगी तो ठंड के मौसम में उनके आवश्यक सुविधाएं मुहैया कैसे हो पाएंगी।

मुख्यमंत्री योगी को भी इस संकट का अहसास है, इसके चलते उनकी अपेक्षा अयोध्यावासियों से ही है कि यहां आने वाले श्रद्धालुओं को अतिथि रुप में स्वीकार करें और जरूरत मंदों को जो भी सुविधा अपनी ओर से उपलब्ध करा सकते हैं, उसे अपना दायित्व मानकर पूरा करें। आम जन का यह व्यवहार रामनगरी की मर्यादा और गरिमा को नया आयाम देगा और शिखर की उन ऊंचाइयों का स्पर्श कर सकेगा जहां अतिथि देवो भव की कहावत महज कहानी नहीं बल्कि हकीकत है।

राम मंदिर आंदोलन के बुजुर्ग संतों से उनके आश्रम जाकर भेंट की
मुख्यमंत्री योगी ने अपने प्रवास के दौरान दीपावली के मौके पर राम मंदिर आंदोलन के बुजुर्ग संतों से भी उनके आश्रम जाकर भेंट की और उनका आशीर्वाद लिया। मुख्यमंत्री ने श्रीरामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास महाराज के अलावा हनुमानगढ़ी में उज्जैनिया पट्टी के वयोवृद्ध महंत संतराम दास एवं बड़ा भक्तमाल के वयोवृद्ध महंत कौशल किशोर दास महाराज से मिलकर उनके स्वास्थ्य का हाल जाना और आर्शीवाद लेने के साथ भरोसा भी दिलाया कि वह उनके साथ हर समय खड़े रहेंगे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें