ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशपंचायत चुनाव वोटर लिस्ट में नाम बढ़ाने के विवाद में ग्राम प्रधान प्रतिनिधि और फौजी के भाई की गोली मारकर हत्या

पंचायत चुनाव वोटर लिस्ट में नाम बढ़ाने के विवाद में ग्राम प्रधान प्रतिनिधि और फौजी के भाई की गोली मारकर हत्या

अम्बेडकरनगर जिले के राजेसुल्तानपुर थाना क्षेत्र के मल्लूपुर मजगवां गांव में वोटर लिस्ट में नाम बढ़ाने के विवाद में दबंगों ने ग्राम प्रधान प्रतिनिधि एवं उनके रिटायर्ड फौजी भाई को गोली मार दी।...

पंचायत चुनाव वोटर लिस्ट में नाम बढ़ाने के विवाद में ग्राम प्रधान प्रतिनिधि और फौजी के भाई की गोली मारकर हत्या
निज संवाददाता,अम्बेडकरनगरTue, 05 Jan 2021 11:16 AM
ऐप पर पढ़ें

अम्बेडकरनगर जिले के राजेसुल्तानपुर थाना क्षेत्र के मल्लूपुर मजगवां गांव में वोटर लिस्ट में नाम बढ़ाने के विवाद में दबंगों ने ग्राम प्रधान प्रतिनिधि एवं उनके रिटायर्ड फौजी भाई को गोली मार दी। आजमगढ़ ले जाते समय दोनों भाइयों की मौत हो गई। दुस्साहसिक ढंग से हुई वारदात से क्षेत्र में रोष व्याप्त है। सूचना पर पुलिस के उच्चाधिकारियों ने घटना स्थल का जायजा लिया। घटना स्थल से चार पहिया वाहन एवं दो बाइक बरामद हुई है।

राजेसुल्तानपुर के मल्लूपुर मजगवां गांव की प्रधान किरन मिश्रा के प्रतिनिधि पति अनिल मिश्रा व सेना से रिटायर उनके भाई सुरेंद्र मिश्र रामनगर से वापस घर जा रहे थे। जैसे ही दोनों भाई घर से थोड़ी दूर पहले ब्रह्मबाबा स्थान के पास पहुंचे तो बगल के गांव बनकटा निवासी दबंग अमित सिंह पुत्र जगदम्बा सिंह ने लगभग दो दर्जन लोगों के साथ दोनों भाइयों को रोक लिया और गोली मार दी। गोली मारने के बाद सभी फरार हो गए। मौके पर पहुंचे ग्रामीणों और अन्य परिजन घायल प्रधान प्रतिनिधि और उनके भाई को  इलाज के लिए आनन-फानन में आजमगढ़ ले गए, जहां पर दोनों भाइयों ने दम तोड़ दिया। घटना से क्षेत्र में रोष और दहशत व्याप्त है। मौके पर अन्य थानों की फोर्स के आलावा सीओ आलापुर समेत अन्य उच्चाधिकारी पहुंच गए। गांव में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। घटना का कारण प्रधानी चुनाव और वोटर लिस्ट में नाम बढ़ाने का विवाद बताया गया है। बताया जाता है कि हमलावर मल्लूपुर मजगवां गांव में वोटर लिस्ट में नाम बढ़वाकर प्रधानी का चुनाव लड़ना चाहता है। हमलावर के खिलाफ ग्राम विकास अधिकारी ने उनके फर्जी हस्ताक्षर से वोटर लिस्ट में नाम बढ़वाने का कुचक्र रचने की तहरीर राजेसुल्तानपुर थाने में दी थी।

मृतक प्रधान प्रतिनिधि अनिल मिश्र ने जानमाल की हिफाजत के लिए थाने में तहरीर दी थी, लेकिन मुकदमा दर्ज नहीं हो सका था। घटना का कारण पुलिस की लापरवाही भी बताई गई है। पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि मौके से चार पहिया वाहन और दो बाइक बरामद हुई है। हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की कई टीमें गठित की गई हैं। तलाश में संभावित ठिकानों पर पुलिस की टीमें लगातार दबिश दे रही हैं।