DA Image
Tuesday, November 30, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशGram Panchayat Sahayak Bharti : इस जिले के 118 गांवों में लटक गया पंचायत सहायकों का चयन, जानिए वजह

Gram Panchayat Sahayak Bharti : इस जिले के 118 गांवों में लटक गया पंचायत सहायकों का चयन, जानिए वजह

हिन्‍दुस्‍तान टीम ,महराजगंज Ajay Singh
Fri, 17 Sep 2021 03:55 PM
Gram Panchayat Sahayak  Bharti : इस जिले के 118 गांवों में लटक गया पंचायत सहायकों का चयन, जानिए वजह

ग्राम पंचायतों में कम्प्यूटर आपरेटर, एकांउटेंड कम डाटा कप्यूटर आपरेटर के 118 पदों के चयन में पेंच फंस गया है। ग्राम पंचायतों ने इन पदों के लिए अभ्यर्थियों का चयन तो कर दिया लेकिन कुछ लोगों ने इसे गलत बताते हुअ आपत्ति कर दी है। जिससे इन चयन अभी लटक गया है। जिला कमेटी की जांच पड़ताल के बाद ही इन पदों पर अंतिम चयन हो सकेगा। ग्राम पंचायत स्तर पर गलत चयन करने वाले प्रधान व ग्राम पंचायत पर भी कार्रवाई हो सकती है। वहीं 764 गांवों में चयन पूरा होने से चयनित पंचायत सहायकों को जल्द ही नियुक्ति पत्र बट जाएगा।

ग्राम पंचायतों का कामकाज गांव में ही कराने के लिए प्रत्येक पंचायत भवन पर तैनाती के लिए हर गांव में पंचायत सहायक, एकाउंटेंट कम डाटा इंट्री आपरेटर की तैनाती की प्रक्रिया चल रही थी। जिसमें प्रत्येक ग्राम पंचायत से दस से 30 लोगों ने आवेदन किया। अभ्यर्थियों का चयन हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की मेरिट के आधार पर किया जाना था। चयन का अधिकार ग्राम पंचायत को दिया गया था। लेकिन इसका परीक्षण जिला स्तरीय कमेटी को करके अंतिम चयन करना था। ग्राम पंचायतों ने चयन करके प्रस्ताव जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय में भेजा। यहां डीएम द्वारा बनाई गई अधिकारियों की कमेटी ने प्रत्येक आवेदन और उसकी मेरिट का परीक्षण किया। जिसमें 882 ग्राम पंचायतों में 764 अभ्यर्थियों का अंतिम रूप से चयन कर लिया गया। लेकिन 118 गांवों में चयन में गड़बड़ी करने की आपत्ति पड़ गई। आरोप लगाया गया है कि मानकों व नियमों को दर किनार कर प्रधान, सेक्रेटरी ने अपात्र का चयन कर लिया है। आरक्षण नियमों, वास्तविक हाई मेरिट वालों को छोड़ दिया गया है। जिला कमेटी अब इन आपत्तियों की जांच पड़ताल कर रही है। जिसमें कुछ समय और लग सकता है। जिससे इनका चयन अभी लटक गया है। वहीं अंतिम रूप से चयनित पंचायत सहायकों को नियुक्ति पत्र देने की तैयारी की जा रही है।

गड़बड़ी करने वाले प्रधान, सेक्रेटरी पर गिरेगी गाज

 

पंचायत सहायकों का चयन हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के अंकों को जोड़कर करना था। दोनों कक्षाओं में सर्वाधिक अंक पाने वाले अभ्यर्थी का चयन किया जाना था। वहीं कोविड पीडि़त परिवार को वरियता दिया जाना था। लेकिन इसमें कुछ प्रधानों ने अपने पक्ष का पंचायत सहायक की तैनाती के लिए गड़बड़ी करके रिपोर्ट जिले पर भेजवाया है। जांच-पड़ताल में यदि ग्राम स्तर पर गबड़बड़ी मिली तो प्रधान व सेक्रेटरी पर कड़ी कार्रवाई हो सकती है। कई जिलों में गड़बड़ी करने वाले प्रधानों व सेक्रेटरी पर मुकदमा दर्ज कराया जा चुका है।

882 पदों में से 764 पदों पर चयन की कार्यवाही पूरी हो चुकी है। शेष 118 पदों पर आपत्ति पड़ जाने के कारण उनका चयन अभी नहीं हो सका है। उनकी जांच चल रही है। अंतिम रूप से चयनित अभ्यर्थियों को जल्द ही नियुक्ति पत्र वितरित करा दिया जाएगा।

केबी वर्मा, डीपीआरओ

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें