ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशगांव वाले बने परिवार! नम आंखों से की बिन बाप की दिव्यांग बेटी विदा, चंदा इकट्ठा कर कराई शादी

गांव वाले बने परिवार! नम आंखों से की बिन बाप की दिव्यांग बेटी विदा, चंदा इकट्ठा कर कराई शादी

ग्राम पंचायत नौबस्ता में ग्रामीणों ने चंदा इकट्ठा कर बिन बाप की दिव्यांग बेटी की शादी कराई है। विवाह संजय कुमार पुत्र स्व. कल्पू निवासी मोहनपुर परसपुर के साथ हुआ । विदाई के दौरान सभी की आंखें नम दिखी।

गांव वाले बने परिवार! नम आंखों से की बिन बाप की दिव्यांग बेटी विदा, चंदा इकट्ठा कर कराई शादी
Srishti Kunjलाइव हिन्दुस्तान,गोंडाThu, 23 Jun 2022 11:03 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/

वजीरगंज।  ग्राम पंचायत नौबस्ता में ग्रामीणों ने चंदा इकट्ठा कर बिन बाप की दिव्यांग बेटी की शादी कराई है। विवाह संजय कुमार पुत्र स्व. कल्पू निवासी मोहनपुर परसपुर के साथ हुआ । विदाई के दौरान हर ग्रामीण की आंखें नम दिखीं। मामला गोंडा के वजीरगंज में नौबस्ता गांव का है। गांव के निवासी स्वर्गीय सतगुरु के एक बेटा और दो बेटियां थीं। जिसमें एक बेटा और एक बेटी की शादी हो चुकी थी। उनकी दूसरे नंबर की गूंगी पुत्री सुनीता की शादी की उम्र थी लेकिन अभी शादी नहीं हो पाई थी। गांव के लोगों ने ही उसकी शादी करवाई और उसका परिवार बनकर उसे विदा किया। यहां तक की उसकी शादी के लिए गांव के लोगों ने चंदा इकट्ठा किया।

लड़की शादी करने योग्य हो चुकी थी। बुधवार को स्वयंसेवक शशिधर पांडेय ने गांव के कई लोगों के सहयोग से शादी की रस्म सम्पन्न कराई। कुछ समय पहले लड़की के पिता की मौत हो गई थी। शादी के लिए पैसा न होने से परिजन काफी परेशान थे। ग्रामीणों ने गरीबी और आर्थिक तंगी को शादी में बाधक न बनने देने का फैसला किया। किसी ने पैसा तो किसी ने खाद्यान्न और दान दहेज की व्यवस्था की। 

बुधवार की रात सभी वैवाहिक रस्में संपन्न कराई गईं। गांव के लोग हर रस्म में खड़े दिखे। गुरुवार की सुबह के समय सुनीता देवी की विदाई हुई तो पूरे मोहल्ले के लोगों की आंखों से आंसू झलक उठे। सहयोग में गांव के रोहित मिश्रा, वेद प्रकाश पांडेय, राममनोहर शुक्ला, संदीप पांडेय, मोहन नाऊ, अजय पांडेय, भूपेंद्र पांडेय व अशोक पांडेय रहे। सभी ने नम आंखों से अपनी बेटी की तरह लड़की को विदा किया।

epaper