ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशपुलिस की दबंगई; ट्रक ड्राइवर को पहले पीटा फिर छीन लिए सारे रुपये, एसपी ने चार सिपाहियों को किया सस्पेंड

पुलिस की दबंगई; ट्रक ड्राइवर को पहले पीटा फिर छीन लिए सारे रुपये, एसपी ने चार सिपाहियों को किया सस्पेंड

ट्रक चालक से वसूली और मारपीट करने के मामले में गाजीपुर एसपी ने सख्त रुख अख्तियार किया है। उन्होंने कोतवाली के एक मुख्य आरक्षी और सुहवल थाने के तीन आरक्षियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

पुलिस की दबंगई; ट्रक ड्राइवर को पहले पीटा फिर छीन लिए सारे रुपये, एसपी ने चार सिपाहियों को किया सस्पेंड
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,गाजीपुरTue, 20 Feb 2024 03:25 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के गाजीपुर पुलिस अपनी आदतों से बाज नहीं आ रही है। हाल ही में सोशल मीडिया पर ए कवीडियो वायरल हुआ। जिसमें सिपाहियों ने एक ट्रक ड्राइवर से वसूली और मारपीट की। शिकायत मिलने पर अब एसपी ने सख्त रुख अख्तियार करते हुए मुख्य आरक्षी समेत तीन सिपाहियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। साथ ही उनके खिलाफ विभागीय जांच बैठा दी गई है। 

एसपी ओमवीर सिंह ने बताया कि 17 फरवरी को व्हाट्सऐप पर एक वीडियो प्राप्त हुआ। जिसमे शिकायकर्ता विरेंद्र कुमार ने बताया कि वह बिजनौर के चांदपुर तहसील के झुजैला का रहने वाला है। वह अपना ट्रक लेकर वाराणसी से छपरा जा रहा था। इस बीच गंगा ब्रिज के पास उससे सिपाहियों ने पैसे की मांग की। कारण पूछने पर सिपाहियों ने उसके साथ मारपीट की और पैसा भी छीन लिया। इसके बाद मामले की प्रारंभिक जांच कराई तो पता चला कि जिस दौरान घटना घटी वहां पर सुहवल थाने के सिपाही शम्भू प्रजापति, अजीत यादव, नवीन पाण्डेय और कोतवाली थाने का मुख्य आरक्षी योगेन्द्र यदुवंशी था। फिलहाल चारों को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए उनके खिलाफ विभागीय जांच बैठा दी गई है। एसपी ने सख्त निर्देश दिया है कि भ्रष्टाचार में संलिप्तता पाए जाने पर बक्शा नहीं जाएगा। ऐसा कोई भी कार्य जिससे विभाग की छवि धूमिल होगी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

दर्जनों पुलिसकर्मियों पर गिर चुकी है गाज 

कुछ महीने पहले चौकी इंचार्ज गोराबाजार सचिन सिंह की ओर से डमी असलहे को असली बताकर वसूली करने का मामला हो या कोतवाली में ही गोली लगने पर पीड़ित को खरोच बताकर भगाने कर मामला हो। सभी में सिपाही से लेकर इंस्पेक्टर तक निलंबित हो चुके हैं। इसके बावजूद पुलिसकर्मी गैरकानूनी तरीके से वसूली करने से बाज नहीं आ रहे हैं। पिछले एक साल में दर्जनों पुलिसकर्मियों को भ्रष्टाचार में निलंबित किया जा चुका है। इसके बाद में महकमे में भ्रष्टाचार थमने का नाम नहीं ले रहा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें