DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  रफ्तार की रानी गतिमान एक्सप्रेस सवा घंटे में केवल पांच किलोमीटर दौड़ी

उत्तर प्रदेशरफ्तार की रानी गतिमान एक्सप्रेस सवा घंटे में केवल पांच किलोमीटर दौड़ी

आगरा। वरिष्ठ संवाददाताPublished By: Govind
Fri, 12 Oct 2018 01:09 AM
रफ्तार की रानी गतिमान एक्सप्रेस सवा घंटे में केवल पांच किलोमीटर दौड़ी

देश की सबसे तेज ट्रेन गतिमान एक्सप्रेस गुरुवार को एक घंटा 20 मिनट में लगभग पांच किलोमीटर की दूरी ही तय कर पाई। ओएचई में गड़बड़ी आने पर गाड़ी का पेंटो टूट गया। रुनकता, बिल्लोचपुरा और राजामंडी स्टेशन पर गाड़ी को खड़ा करना पड़ा। नया पेंटो लगवाने के बाद गाड़ी को रवाना किया गया।

गुरुवार को गाड़ी हजरत निजामुद्दीन स्टेशन से निर्धारित समय सुबह 8:10 बजे रवाना हुई। गाड़ी के आगरा कैंट स्टेशन पहुंचने का समय 9:50 मिनट है। जबकि यह स्टेशन पर 11:10 बजे पहुंची। इससे पहले इसे बिल्लोचपुरा और राजामंडी स्टेशन पर रोका गया। कारण यह था कि गाड़ी का पेंटो (ट्रेन के ऊपर लगा बिजली आपूर्ति का एंटीना) टूट गया था। इसका पता रुनकता से आगे चला। चूंकि नया पेंटो लगाना इतना आसान नहीं था। इसलिए गाड़ी में पीछे लगा पेंटो को ट्रैक पर ही इंटरचेंज किया गया। बिल्लोचपुरा से कैंट तक करीब पांच किलोमीटर की दूरी गाड़ी 1:20 घंटे में तय कर पाई। पिछला पेंटो आगे शिफ्ट करने के बाद ही गाड़ी को 11:14 बजे रवाना किया गया। ग्वालियर पहुंचने तक ट्रेन 1:17 घंटे लेट थी। जबकि गाड़ी झांसी स्टेशन पर 1:05 घंटे विलंब से पहुंच पाई। 

दुष्कर्म के बाद अमेरिकी ने की कत्ल की कोशिश, पुलिस को भी दिखाया चाकू

सात से अधिक गाड़ियां लेट
गतिमान का पेंटो टूट जाने के कारण तमाम गाड़ियां लेट हो गईं। ताज एक्सप्रेस आगरा कैंट स्टेशन पर 3:25 घंटा लेट आई। इसे भी रास्ते में रोकना पड़ा। यह गाड़ी 4:15 घंटे देरी से झांसी स्टेशन पहुंची। इसके अलावा मंगला एक्सप्रेस, समता एक्सप्रेस सरीखी सात गाड़ियां देरी से आईं।

ओएचई में गड़बड़ी के संकेत
सूत्रों की मानें तो रुनकता से बिल्लोचपुरा के बीच में ओएचई में खराबी आई। इसी कारण गतिमान का पेंटो टूटा। कारण कि गतिमान से पहले ताज एक्सप्रेस का समय है। ताज में कोई गड़बड़ी नहीं थी। इसके बावजूद वह आगरा कैंट स्टेशन पर 3:25 घंटे देरी से पहुंची। कई और गाड़ियां भी लेट हुई हैं। 

हाईकोर्ट ने सरकार से पूछा- गैर गुजरातियों की सुरक्षा के लिए क्या किया?

गर्मी से यात्रियों का हाल खराब 
बिन बिजली की गाड़ी पहले जंगल में खड़ी रही। इसके बाद बिल्लोचपुरा और राजामंडी स्टेशन पर घंटों का ठहराव। कोई कारण बताने वाला भी नहीं। एयर कंडीशनर बंद हो गया। झांसी पहुंचने के समय पर गाड़ी आगरा में थी। पानी भी खत्म हो गया था। बोतलों में रखा पानी गर्म हो गया। यात्री प्लेटफार्म पर भटकते रहे। गर्मी और उमस के चलते छोटे बच्चों का बुरा हाल हो गया। 

आगरा मंडल के डीसीएम डां संचित त्यागी के अनुसार, गतिमान का पेंटो टूट गया था। इसे रुनकता से बिल्लोचपुरा के बीच ट्रैक पर ही बदलवा दिया गया। दरअसल गाड़ी में दो पेंटो होते हैं। पिछले पेंटो को आगे शिफ्ट करके गाड़ी को रवाना किया गया। ट्रेन 9:48 से 11:02 तक करीब 74 मिनट प्रभावित रही है। 
रामपाल के खिलाफ 5500 पेज की चार्जशीट, गिरफ्तारी में खर्च हुए 50 करोड़

संबंधित खबरें