ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशपीलीभीत में धर्मांतरण के चलते 30 घंटे से रुका मृतक का अंतिम संस्कार, परिवार और बहू में घमासान जारी

पीलीभीत में धर्मांतरण के चलते 30 घंटे से रुका मृतक का अंतिम संस्कार, परिवार और बहू में घमासान जारी

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में धर्मांतरण की वजह से 30 घंटों से एक लाश अंतिम संस्कार के इंतजार में है। मृतक की पत्नी ईसाई धर्म के अनुसार अंतिम संस्कार चाहती है जबकि उसके घरवाले हिंदू तरीके से चाहते हैं।

पीलीभीत में धर्मांतरण के चलते 30 घंटे से रुका मृतक का अंतिम संस्कार, परिवार और बहू में घमासान जारी
Atul Guptaलाइव हिंदुस्तान,पीलीभीतThu, 18 Aug 2022 04:14 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत के एक परिवार में तीस घंटे से एक लाश अंतिम संस्कार का इंतजार कर रही है क्योंकि मृतक की पत्नी और मृतक के परिजन अंतिम संस्कार की विधि को लेकर आपस में लड़ रहे हैं। मृतक का परिवार चाहता है कि हिंदू रीति-रिवाज से उसका अंतिम संस्कार किया जाए वहीं मृतक की पत्नी चाहती है कि ईसाई रीति रिवाज से उसके पति का अंतिम संस्कार किया जाए। दोनों पक्षों के बीच अंतिम संस्कार को लेकर विवाद के चलते 30 घंटे से ज्यादा समय बीत जाने के बाद भी लाश का अंतिम संस्कार नहीं हो पाया है। पुलिस दोनों पक्षों को समझाकर अंतिम संस्कार कराने की कोशिश कर रही है।

जानकारी के मुताबिक पीलीभीत के जहानाबाद के मोहल्ला कटरा इलाके में रहने वाले 52 साल के प्रमोद कुमार की पिछले दिनों मृत्यु हो गई थी। वो काफी समय से बीमार चल रहे थे और लखनऊ में उनका इलाज चल रहा था। लखनऊ में बीमारी की वजह से उनकी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि प्रमोद कुमार जाति से ब्राम्हण परिवार में पैदा हुए लेकिन उनकी पत्नी और बच्चों ने काफी समय पहले हिंदू धर्म छोड़कर ईसाई धर्म अपना लिया था।

लखनऊ में प्रमोद कुमार की मौत के बाद जब उनकी डेड बॉडी उनके गृह जनपद लाई गई तो अंतिम संस्कार को लेकर विवाद खड़ा हो गया। उनकी पत्नी की इच्छा थी कि उनके पति का अंतिम संस्कार ईसाई रीति रिवाज से हो। उनका दावा था कि प्रमोद कुमार ने भी ईसाई धर्म अपना लिया था लेकिन प्रमोद कुमार के घरवाले इसके लिए तैयार नहीं हैं। उनका कहना है कि प्रमोद कुमार ब्राम्हण है और उसके अंदर उन्हीं का डीएनए है लिहाजा उनका अंतिम संस्कार हिंदू रीति रिजाव से होगा।

इसकी बात को लेकर दोनों पक्ष आपस में झगड़ा कर रहे हैं और लाश अंतिम संस्कार का इंतजार कर रही है। मामले की जानकारी मिलने के बाद पुलिस भी मौके पर पहुंची है और दोनों पक्षों से बात कर सुलह कराने की कोशिश कर रही है। फिलहाल धर्म की दीवार लाश के अंतिम संस्कार में बाधा बनी हुई है।