ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशमुफ्त राशनः यूपी में लागू हुई नई व्यवस्था, अब समय पर मिल सकेगा गेहूं-चावल, घटतौली भी नहीं होगी

मुफ्त राशनः यूपी में लागू हुई नई व्यवस्था, अब समय पर मिल सकेगा गेहूं-चावल, घटतौली भी नहीं होगी

यूपी में राशन वितरण व्यवस्था को और दुरुस्त किया जा रहा है। योगी सरकार ने समय पर लोगों तक राशन पहुंचाने के लिए FCI से कोटेदार तक गेहू-राशन पहुंचाने की व्यवस्था कर दी है। गाड़ियों की मॉनिटरिंग भी होगी।

मुफ्त राशनः यूपी में लागू हुई नई व्यवस्था, अब समय पर मिल सकेगा गेहूं-चावल, घटतौली भी नहीं होगी
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,लखनऊThu, 23 Jun 2022 05:46 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

यूपी में करोड़ों लोगों को हर महीने सरकार की तरफ से मुफ्त राशन का वितरण होता है।लोगों को राशन समय पर और सही मिले इसकी लगातार कोशिश हो रही है। नई व्यवस्था के तहत एफसीआई गोदाम से गेहूं-चावल सीधे कोटेदारों को दिया जाएगा। जिन गाड़ियों के गेहूं-चावल भेजा जाएगा उनकी मॉनिटरिंग भी होगी। गाड़ियों पर जीपीएस लगाया गया है, ताकि गाड़ी कहीं इधर-उधर जाए तो पता चल जाए। नई व्यवस्था को राशन की सिंगल स्टेज व्यवस्था नाम दिया गया है।

राजधानी लखऩऊ में गुरुवार से राशन की सिंगल स्टेज व्यवस्था लागू हो गई। मंडलायुक्त रंजन कुमार व जिलाधिकारी सूर्यपाल गंगवार ने अगले माह वितरित होने वाले गेहूं-चावल से भरे ट्राकों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। नई व्यवस्था के तहत गेहूं व चावल एफसीआई के गोदाम से सीधे कोटेदारों तक पहुंचेगा। इससे राशन वितरण में लेटलतीफी और घटतौली पर लगाम लगेगी। 

डीएसओ सुनील कुमार सिंह ने बताया कि राजधानी में संचालित 1243 कोटे की दुकानों (ग्रामीण 605 व नगरीय 638) पर तालकटोरा स्थित भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) के गोदाम से सीधे राशन पहुंचाया जाएगा। इस मौके पर संभागीय खाद्य नियंत्रक व संयुक्त आयुक्त खाद्य मौजूद रहे। सस्ता गल्ला विक्रेता परिषद के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रकाश सिंह ने सिंगल स्टेज व्यवस्था का स्वागत किया है। 

राशन ले जाने वाले वाहनों में जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम 

डीएसओ ने बताया कि कोटेदारों की दुकानों तक राशन पहुंचाने वाली गाड़ियों में जीपीएस ट्रैकिंग डिवाइस लगी है। इससे गाड़ियों के गोदाम से निकलने और कोटेदार की दुकान तक पहुंचने को ट्रैक किया जाएगा। गाड़ी इधर-उधर जाती है तो उसकी निगरानी होगी। इस योजना के लागू होने से कोटेदारों को अब अपने साधन से राशन नहीं उठाना पड़ेगा।  

अभी तक डबल मेहनत और खर्च लगता था 

गेहूं-चावल को कोटेदार तक पहुंचाने के लिए अभी तक डबल मेहनत और डबल खर्च लगता था। यानी एक स्टेज में राशन एफसीआई से उठकर विपणन शाखा के गोदाम  जाता था। स्टेज टू में विपणन शाखा के गोदाम से राशन दुकानों पर जाता था। दो तरह से ठेकेदार लगते। अब इन दोनों स्टेज को खत्म कर सिंगल स्टेज व्यवस्था लागू की गई है।

epaper