ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशफ्री राशन वितरण की डेट बढ़ी, अब इस तरीख तक लें सकेंगे गेहूं-चावल

फ्री राशन वितरण की डेट बढ़ी, अब इस तरीख तक लें सकेंगे गेहूं-चावल

 Free ration distribution: यूपी में राशन कार्डधारकों के लिए राहत की खबर है। अभी तक राशन नहीं ले पाए कार्डधारक अब डेट बढ़ने के अनाज ले सकेंगे। अभी तक लस्ट डेट 29 थी।

फ्री राशन वितरण की डेट बढ़ी, अब इस तरीख तक लें सकेंगे गेहूं-चावल
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,लखनऊThu, 30 May 2024 12:23 PM
ऐप पर पढ़ें

 Free ration distribution:जिन कार्डधारकों ने अभी तक राशन नहीं लिया है वह 31 मई तक राशन ले सकते हैं। विभाग ने राशन के नि:शुल्क वितरण की तारीख को दो दिनों के लिए बढ़ा दिया है। इससे पहले 29 मई तक राशन की वितरण की तिथि निर्धारित थी। डीएसओ विजय प्रताप सिंह ने बताया कि इस दौरान 31 मई तक ई-पॉस मशीन के जरिए आधार आधारित वितरण किया जाएगा। 31 मई को मोबाइल ओटीपी के जरिए भी वितरण की सुविधा मिलेगी। वहीं इस दौरान कार्डधारक पोर्टेबिलिटी के तहत भी राशन प्राप्त कर सकते हैं।

वहीं राशन कार्ड धारकों को कोटे की दुकानों पर पॉस मशीनों पर अंगूठा लगाने के बाद भी राशन मिलता है। अब राशन कार्ड में शामिल सभी सदस्यों का एक बार अंगूठा लगना जरूरी है। इससे राशन कार्ड की ईकेवाईसी हो जाएगी और यह भी सत्यापन हो जाएगा कि राशन कार्ड में जो यूनिट दर्ज हैं वह सभी एक ही परिवार की हैं। बताते हैं कि इस बात की शिकायतें मिली हैं कि राशन कार्ड में परिवार के अलावा अन्य लोगों के नाम शामिल हैं। इसका सत्यापन होने के बाद राशन कार्ड में शामिल सभी सदस्यों का जब एक बार अंगूठा लग जाएगा तो सत्यापन हो जाएगा और जिनका अंगूठा नहीं लगेगा उन यूनिटों का ब्लॉक किया जा सकता है। विभाग के अधिकारी बताते हैं कि जिले में करीब 50 प्रतिशत तक ईकेवाईसी का काम पूरा हो चुका है। बाकी का चल रहा है। राशन कार्ड में दर्ज मुखिया के साथ ही राशन कार्ड में शामिल सभी सदस्य बारी-बारी से कोटे की दुकान पर जाकर अपना अंगूठा लगाकर ईकेवाईसी करा सकते हैं। उन्होंने बताया कि राशन कार्ड में दर्ज पति ने अगर इस महीने कोटे की दुकान पर जाकर अंगूठा लगाया है तो अगले महीने पत्नी का अंगूठ लगवाएं इसके बाद बच्चों का लगवाएं जिससे सभी के अंगूठा लग जाएंगे और ईकेवासी आसानी से हो जाएगा। एक ही बार में एक साथ कोटे की दुकान पर नहीं जाना है।