ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशमामला रफा-दफा करवाने के नाम पर ठगी; सीएम योगी का पीआरओ बनकर जालसाज ने ठगे लाखों रुपये

मामला रफा-दफा करवाने के नाम पर ठगी; सीएम योगी का पीआरओ बनकर जालसाज ने ठगे लाखों रुपये

सीतापुर में एक शख्स ने खुद को मुख्यमंत्री का पीआरओ और गोरखपुर मठ का पुजारी बताकर ट्रैक्टर हादसे में मौत का शिकार हुए पांच बच्चों के मामले से बचाने का झांसा देकर पीड़ित से तीन लाख रुपए ठग लिए।

मामला रफा-दफा करवाने के नाम पर ठगी; सीएम योगी का पीआरओ बनकर जालसाज ने ठगे लाखों रुपये
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,सीतापुरTue, 11 Jun 2024 11:10 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के सीतापुर से जालसाजों द्वारा लाखों रुपये ठगने का मामला सामने आया है। दरअसल सदरपुर थानाक्षेत्र में एक शख्स ने खुद को मुख्यमंत्री का पीआरओ और गोरखपुर मठ का पुजारी बताकर ट्रैक्टर हादसे में मौत का शिकार हुए पांच बच्चों के मामले से बचाने का झांसा देकर पीड़ित से तीन लाख रुपए ठग लिए।

सदरपुर के पहाड़ापुर के शिवशंकर पुत्र विश्राम लाल ने पुलिस को तहरीर देते हुए बताया है कि उसके पिता विश्राम लाल के ट्रैक्टर से पांच मई को हादसा हो गया था। हादसे में उसका बेटा और गांव के रहने वाले चार अन्य बच्चों की मौत हो गई थी। पुलिस और मृतक के परिवार वालों से शिवशंकर परेशान था और बचने के उपाय ढूंढ रहा था। उसी बीच पीड़ित के बहनोई सोहन निवासी मंझिया थाना रामपुर कला की मुलाकात ठग नागेंद्र निवासी बाराबंकी से मुलाकात हुई। जो वर्तमान समय में सदरपुर के बंगरहा हेलेपारा में अपनी रिश्तेदारी में बुद्धराज के घर रहता है। 

नागेंद्र ने पीड़ित के बहनोई को बताया कि वह गोरखपुर मठ का पुजारी है और मुख्यमंत्री का पीआरओ है। मुख्यमंत्री सहित भाजपा के कई बड़े नेताओं के संग अपनी फोटो दिखाई और कहा कि अगर कोई बड़ा काम हो तो बताना जिस पर पीड़ित के बहनोई ने अपने ससुर विश्राम लाल के ट्रैक्टर से हुए हादसे की पूरी बात बताई तो नागेंद्र ने उक्त समस्या से बचाने के एवज में 3 लाख 50 हजार रुपये की मांग की ओर कहा की मुख्यमंत्री  से कह कर मामले को रफा दफा करवा देंगे। 

बहकावे में आकर सोहन ने पूरी बात पीड़ित को बताई, जिस पर पीड़ित ने नागेंद्र को मिलने के लिए बुलाया और उससे मिल कर पीड़ित ने अपने बैंक खाते से निकाल कर एक लाख रुपया उसे दे दिए। उसके बाद थोड़े थोड़े करके दो लाख रुपए ऑनलाइन ट्रांसफर किए। पीड़ित ने बताया कि जब तीन लाख रुपये उसके खाते में पहुंच गए तो अपने काम होने के संबंध में जब फोन किया तो ठग ने पीड़ित को गंदी गंदी गालियां देते हुए और जेल भिजवाने की धमकी देते हुए फोन बंद कर लिया है। एसओ राकेश सिंह ने बताया कि अगर तहरीर मिली है तो जांच कर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।