ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशपूर्व पहलवान नरसिंह यादव WFI एथलीट पैनल के अध्यक्ष चुने गए, भारतीय कुश्ती संघ की बड़ी बाधा हुई दूर

पूर्व पहलवान नरसिंह यादव WFI एथलीट पैनल के अध्यक्ष चुने गए, भारतीय कुश्ती संघ की बड़ी बाधा हुई दूर

राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता नरसिंह पंचम यादव बुधवार को भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के एथलीट आयोग के अध्यक्ष बन गए। इसके साथ ही विश्व संचालन संस्था द्वारा अनिवार्य प्रक्रिया पूरी हो गई है।

पूर्व पहलवान नरसिंह यादव WFI एथलीट पैनल के अध्यक्ष चुने गए, भारतीय कुश्ती संघ की बड़ी बाधा हुई दूर
Yogesh Yadavभाषा,वाराणसीWed, 24 Apr 2024 04:12 PM
ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता नरसिंह पंचम यादव बुधवार को भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के एथलीट आयोग के अध्यक्ष बन गए। इसके साथ ही खेल की विश्व संचालन संस्था द्वारा अनिवार्य की गई प्रक्रिया भी पूरी हो गई। खेल की अंतरराष्ट्रीय संस्था UWW ने WFI का निलंबन हटाते हुए कहा था कि संजय सिंह की अगुआई वाली राष्ट्रीय महासंघ के लिए पहलवानों की शिकायतों को निपटाने के लिए एथलीट आयोग गठित करना अनिवार्य होगा। आयोग के सात स्थानों के लिए कुल आठ दावेदार दौड़ में थे और मतदान के बाद सात सदस्यों को चुना गया। इसके बाद उन्होंने आयोग के अध्यक्ष पद के लिए नरसिंह को चुना। 

2016 ओलंपिक से पहले टीम के सदस्य नरसिंह सुर्खियों में आ गये थे जब ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार ने उनके खिलाफ एक ट्रायल मुकाबले का अनुरोध किया था जबकि वह चोट के कारण क्वालीफिकेशन टूर्नामेंट में नहीं खेल पाये थे। सुशील ने दिल्ली उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया और उनकी अपील खारिज होने के बाद पुष्टि हो गयी कि नरसिंह ही रियो ओलंपिक जायेंगे। लेकिन हैरानी की बात रही कि नरसिंह ओलंपिक से पहले करायी गयी दो डोप जांच में विफल हो गये थे जिससे खेल पंचाट ने उन्हें चार साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया था। हालांकि राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) ने उन्हें यह कहते हुए पाक साफ करार कर दिया था कि वह साजिश के कारण डोप जांच में पॉजिटिव आये थे। 

खेल पंचाट का फैसला नरसिंह के शुरूआती मुकाबले से एक दिन पहले ही आया था जिससे वह रियो से बिना खेले ही वापस लौट आये थे। उनका प्रतिबंध जुलाई 2020 को खत्म हुआ और उन्होंने कहा कि था कि यह घटनाक्रम साजिश का हिस्सा था। एथलीट आयोग के लिए चुने गये अन्य सदस्य साहिल (दिल्ली), स्मिता ए एस (केरल), भारतीय भाघेई (उत्तर प्रदेश), खुशबू एस पवार (गुजरात), निक्की (हरियाणा) और श्वेता दुबे (बंगाल) हैं।