ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशअमरमणि के चक्‍कर में कोतवाल को कोर्ट में मांगनी पड़ी माफी, किडनैपिंग केस में अब कुर्क होगी पूर्व मंत्री की प्रॉपर्टी

अमरमणि के चक्‍कर में कोतवाल को कोर्ट में मांगनी पड़ी माफी, किडनैपिंग केस में अब कुर्क होगी पूर्व मंत्री की प्रॉपर्टी

22 साल पुराने राहुल मद्धेशिया अपहरण मामले में सुनवाई के दौरान तारीख पर आरोपी पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी नहीं पहुंचे। कोर्ट ने सख्त रुख अपनाते हुए धारा 83 के तहत कुर्की का आदेश जारी कर दिया।

अमरमणि के चक्‍कर में कोतवाल को कोर्ट में मांगनी पड़ी माफी, किडनैपिंग केस में अब कुर्क होगी पूर्व मंत्री की प्रॉपर्टी
Ajay Singhनिज संवाददाता,बस्तीSun, 03 Dec 2023 06:47 AM
ऐप पर पढ़ें

Amarmani Tripathi Case: 22 साल पुराने राहुल मद्धेशिया अपहरण कांड की शनिवार को कोर्ट में सुनवाई थी लेकिन आरोपी पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी इस बार भी नहीं पहुंचे। उनके चक्‍कर में बस्‍ती के कोतवाल को कोर्ट में माफी मांगनी पड़ी है। कोर्ट ने सख्त रुख अपनाते हुए अमरमण‍ि के खिलाफ धारा 83 के तहत कुर्की का आदेश जारी कर दिया है। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (एमपी-एमएलए) प्रमोद कुमार गिरि की कोर्ट ने बचाव पक्ष की ओर से मांगी गई मोहलत से सम्बंधित अर्जी खारिज कर दी।

बचाव पक्ष के अधिवक्ता की ओर से इलाहाबाद उच्च न्यायालय में रिट याचिका दाखिल किए जाने का हवाला दिया गया। इस पर कोर्ट ने कहा कि उन्हें उच्च न्यायालय से केस के सम्बंध में कोई लिखित आदेश नहीं मिला है। मुल्जिम के बिना हाजिर हुए कोई मोहलत नहीं दी जा सकती।

कोर्ट ने पुलिस अधीक्षक बस्ती को पुन निर्देशित किया है कि वह एक नई स्पेशल टीम गठित कर अभियुक्त अमरमणि त्रिपाठी की चल-अचल संपत्ति का पता लगाकर उसकी कुर्की कराएं। कुर्की की कार्रवाई का ब्योरा अगली सुनवाई की तिथि पर कोर्ट में पेश करें। संबंधित खबर P07

कोतवाल ने कोर्ट से मांगी माफी, 20 को पेशी
एमपी-एमएलए कोर्ट से कोतवाल विनय पाठक ने माफी मांगी है। कोर्ट के सामने प्रस्तुत हुए कोतवाल ने बताया कि अमरमणि के संबंध में विज्ञापन मीडिया सेल की गलती से प्रकाशित हुआ था। ऑपरेटर ने कट-पेस्ट किया, जिससे न्यायालय का नाम बदल गया। विज्ञापन में न्यायालय का नाम बदलने पर कोर्ट ने सख्त रुख अख्तियार करते हुए प्रकीर्णवाद दर्ज कर शनिवार को कोतवाल को हाजिर होने का आदेश दिया था। कोर्ट ने माफी पर कोई टिप्पणी नहीं की और पुन 20 दिसंबर को उन्हें कोर्ट में हाजिर होने का आदेश दिया।

पुरानी टीम हुई फेल, स्पेशल टीम बना एसपी करें कार्रवाई
बस्ती के सप्तम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश एमपी-एमएलए प्रमोद कुमार गिरि की कोर्ट ने कहा कि पिछली बार एसपी बस्ती को स्पेशल टीम बनाकर अमरमणि पर कार्रवाई करने आदेश दिया था। कोर्ट ने एसपी बस्ती को फिर से निर्देशित किया है कि वह एक नई स्पेशल पुलिस टीम गठित करें और अभियुक्त अमरमणि त्रिपाठी की चल-अचल संपत्ति का पता लगाकर कुर्की कराएं। कुर्की की गई सामानों की लिस्‍ट के साथ ब्योरा अगली सुनवाई पर कोर्ट में पेश करें। मालूम हो की छह दिसंबर वर्ष 2001 में बस्ती कोतवाली क्षेत्र के गांधीनगर के धर्मराज गुप्ता के बेटे का अपहरण हो गया था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें