ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशपूर्व विधायक को 12 साल पुराने मामले में 7 साल की सजा, फैसला सुनकर फफक कर रोने लगे काशीराम

पूर्व विधायक को 12 साल पुराने मामले में 7 साल की सजा, फैसला सुनकर फफक कर रोने लगे काशीराम

यूपी के रामपुर जिले में पूर्व विधायक को 12 साल पुराने मामले में 7 साल की सजा सुनाई गई। सजा का फैसला सुनकर पूर्व विधायक काशीराम फफक कर रोने लगे।

पूर्व विधायक को 12 साल पुराने मामले में 7 साल की सजा, फैसला सुनकर फफक कर रोने लगे काशीराम
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,रामपुरFri, 21 Jun 2024 08:43 AM
ऐप पर पढ़ें

रामपुर में राणा शुगर मिल में घुसकर मारपीट, तोड़फोड़ और लूटपाट करने के 12 साल पुराने मामले में भाजपा के पूर्व विधायक काशीराम दिवाकर, पूर्व जिला महामंत्री सुरेश गुप्ता और आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की नेता रही संजू यादव समेत सभी दोषियों को कोर्ट ने गुरुवार को सात-सात साल की सजा सुनाई गई है। एमपी-एमएलए सेशन कोर्ट ने सभी दोषियों पर अलग-अलग जुर्माना भी लगाया है। सजा सुनकर पूर्व विधायक फफक पड़े।

करीमगंज स्थित राणा शुगर मिल में 15 जनवरी 2012 की रात में बवाल हुआ था। इसमें राणा शुगर मिल के उपाध्यक्ष ओमवीर सिंह की ओर से शाहबाद कोतवाली में भाजपा के तत्कालीन विधायक काशीराम दिवाकर, भाजपा नेता सुरेश बाबू गुप्ता, किशन पाल, भारत, संजू यादव और मेघराज समेत 38 लोगों को नामजद करते हुए दो सौ अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया गया था। इन सभी पर चीनी मिल में घुसकर तोड़फोड़, फायरिंग, लूटपाट, मारपीट करने का आरोप था। इस मामले में कोर्ट में 28 आरोपियों का ट्रायल चला था। इसमें एक आरोपी की मृत्यु ट्रायल के दौरान हो गई थी। कोर्ट ने बुधवार को शेष 27 आरोपियों में से छह आरोपियों को दोषी करार देते हुए जेल भेज दिया था।

दंड के प्रश्न पर सुनवाई के लिए गुरुवार को भाजपा के पूर्व विधायक समेत सभी छह दोषियों को कोर्ट में पेश किया गया। सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता सीमा सिंह राणा ने बताया कि विशेष सत्र न्यायाधीश (एमपी-एमएलए) डाक्टर विजय कुमार ने पूर्व विधायक काशीराम दिवाकर, किशनपाल, भारत, संजू यादव, मेघराज और सुरेश बाबू गुप्ता को सात-सात साल की सजा सुनाई है। कोर्ट ने प्रत्येक पर 1.01 लाख रुपये का अर्थदंड भी लगाया है। दोषी संजू यादव पर एक अन्य आरोप में 70 हजार का अतिरिक्त जुर्माना लगाया गया है। सजा के बाद सभी को जेल भेज दिया गया।