ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशपहले पति की मौत का गम, अब तहसील प्रशासन दे रहा और गम, पत्नी ने बयां किया दर्द

पहले पति की मौत का गम, अब तहसील प्रशासन दे रहा और गम, पत्नी ने बयां किया दर्द

बदायूं की महिला ने अपना दर्द बयां किया है। पति की मौत के बाद पत्नी अधिकारियों का चक्कर काट रही है। कोई सुनने वाला नहीं है।

पहले पति की मौत का गम, अब तहसील प्रशासन दे रहा और गम, पत्नी ने बयां किया दर्द
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,बदायूंWed, 05 Oct 2022 12:59 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें


बदायूं में तीन माह पहले पति की मौत के गम को पत्नी भुला भी नहीं पाई उसके ऊपर से तहसील प्रशासन ने उसको एक और गम दे दिया है। बताया जा रहा है कि पति लेखपाल के पद पर तैनात था डयूटी के समय उसकी मौत हो गई। अब बेवा पत्नी नौकरी के लिए अधिकारियों के चक्कर लगा रही है लेकिन उसकी गुहार सुनने वाला कोई दिखाई नहीं दे रहा है। अब तक न तो उसको बीमा और न ही फंड का रुपया मिला।

मामला बिसौली तहसील का है जहां एश्वर्य कुमार शर्मा लेखपाल के पद पर तैनात थे। वहीं कोरोना काल में उनकी आंखों की रोशनी चली गई। पत्नी का आरोप था कि कोरोना टीका लगाने के बाद उनकी आंखों की रोशनी चल गई। 21 जुलाई को उनकी इलाज के दौरान मौत हो गई। तीन महीने में न तो फंड का पैसा मिल सका है न ही बीमा का रुपया देने के लिए विभाग ने कोई पहल की है। पत्नी प्रभा मिश्रा ने एसडीएम से लेकर तहसीलदार के पास गईं, समस्या का हल नहीं निकला।

बिसौली एसडीएम ज्योति शर्मा का कहना है कि मामला संज्ञान में है मामले में पत्रावली की जांच का कार्य चल रहा है। जल्द ही उसकी फाइल को ट्रेजरी में भेज दिया जाएगा जिससे उसका सभी भुगतान हो सकेगा। मृतक आश्रित वाली फाइल भी चल रही है जल्द ही नौकरी भी मिल जाएगी। मृतक आश्रित जैसी नौकरी के लिए तो कई जांच होने बाद फाइल पूरी होती है। लेखपाल की पत्नी को परेशानी नहीं होने दी जाएगी।

epaper