DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हादसा: कानपुर में प्राइवेट हॉस्टल में लगी आग, 2 छात्रों की मौत, 14 घायल

Fire at King George’s Medical University trauma centre

काकादेव कोचिंग मंडी के एक मकान में आग लगने में बुधवार की देर रात एक युवती समेत दो की मौत हो गई। तुलसीनगर में हुए हादसे में पांच छात्र समेत 14 लोग आए हैं। घायलों में मकान मालिक और उनके परिवार के सदस्य भी शामिल है। भयानक अग्निकांड में एक कार, बाइक और स्कूटी भी राख हो गई। वाहन जलने से पेट्रौल टंकी फटने से तेज धमाके भी हुए। इससे आग ने और विकराल रूप धारण कर लिया। अनुमान है कि दम घुटने से मौत हुई है। फायर ब्रिगेड की टीम ने दो घंटे से ज्यादा देर तक मशक्कत कर आग बुझाई। घायलों को हैलट और कुलवंती हास्पिटल में भर्ती कराया गया है। घटना की सूचना पाकर एडीजी, आईजी, एसएसपी भी मौके पर पहुंचे। 
रात लगभग 2:30 बजे लगी आग
यह भयावह अग्निकांड देर रात लगभग 2:30 बजे हुआ। काकादेव क्षेत्र के तुलसीनगर में फतेहपुर के बैजनाथ का मकान है। बैजनाथ के बेटे धर्मेंद्र और के.के. का परिवार मकान में रहता है। दो खंड के मकान में कोचिंग के दो खंड में कोचिंग छात्र भी रहते हैं। क्षेत्रीय लोगों ने बताया कि रात अचानक लपटें उठने पर धर्मेंद्र के घर में आग लगने का पता चला। देखते ही देखते ही आग ने भयानक रूप ले लिया। अंदर से चीख पुकार सुनाई देने लगी। कुछ ही देर में पूरे घर में धुआं भर गया। धुआं बढ़ने के साथ चीख-पुकार भी खत्म हो गई। छत से पड़ोसी के घर में फांद कर निकले कई छात्रों ने बताया कि पूरे घर में जहरीला धुआं भरा है। कई लोग अंदर फंसे हैं। क्षेत्रीय लोगों की पुलिस कंट्रोल रूम में दी गई सूचना पर पुलिस और फायर ब्रिगेड की सूचना दी गई। फायर ब्रिगेड के पहुंचे के पहले कई धमाके हुए इससे लोग दहशत में आ गए। फायर ब्रिगेड की टीम ने कई ओर से पानी फेंक कर आग पर काबू पाया। धुआं भरने और घर पूरी तरह से सुरक्षा के लिहाज से कैदखाना की तरह पैक होने से फायर जवानों को अंदर जाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। 
दीवार तोड़कर निकाला
जवानों ने पड़ोसी की दीवार तोड़कर ग्राउंड फ्लोर में फंसे कई लोगों को निकाला। पहले खंड में मकान मालिक धर्मेंद्र उनकी पत्नी नेहा, 8 माह का बेटा अभि, भाई की पत्नी शालिनी, भतीजा शगुन, भतीजी सिद्धि, बुआ उर्मिला, फुफेरा भाई प्रकाश को बेसुध हालत में निकाला गया। भूतल पर पाए गए कल्यानपुर के साहबनगर निवासी मनीष और दादानगर निवासी रिया मृत पाए गए। 
टंकी फटने से भयावह हुई आग 
दम घुटने से बेसुध मिले सभी लोगों को अस्पताल भेजा गया। मौके पर पहुंचे फायर ब्रिगेड के डिप्टी डायरेक्टर सी.पी.अवस्थी का मानना है कि घर की बाउंड्री के ऊपर लगे फाइबर सेट से गुजर रहे केबिल में स्पार्किंग आग की वजह हो सकती है। फाइबर से आग फैलती चली गई और वाहनों को चपेट में ले लिया। वाहनों के पेट्रोल टैंक फटने से हादसे ने विकराल रूप ले लिया। घटना की सूचना पाकर पहुंचे आला अफसरों ने कोचिंग मंडी के हॉस्टल की जांच करने का आदेश दिया। एसएसपी सोनिया सिंह ने कहा कि टीम बनाकर जांच कराई जाएगी।
घायलों की सूची 
हैलट में भर्ती-हर्षित (26) पुत्र सुंजय तिवारी, नीमतपुर, सिरसा कलां, जालौन।  कीर्ति रतन (26), पता अज्ञात। अजय कुमार याद (22) पुत्र सुरजीत, मिर्जापुर। राजन यादव (25), अज्ञात, अतुल यादव (23) पुत्र रामभवन, मछलीशहर जौनपुर। 
कुलवंती में भर्ती-धर्मेंद्र घर मालिक, उनकी पत्नी नेहा, बेटा अभि, परिवार के सदस्य-शालिनी, शगुन, सिध्दि, उर्मिला, प्रकाश।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:fire in private hostel in Kanpur, 2 student die