ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशUP Board Exam: उत्तर पुस्तिका के साथ खिलवाड़ करना परीक्षार्थियों को पड़ेगा भारी, दर्ज होगी एफआईआर

UP Board Exam: उत्तर पुस्तिका के साथ खिलवाड़ करना परीक्षार्थियों को पड़ेगा भारी, दर्ज होगी एफआईआर

यूपी बोर्ड की परीक्षा में उत्तर पुस्तिका को लेकर जाना या फाड़ना छात्रों को भारी पड़ेगा। आगरा के जिला विद्यालय निरीक्षक द्वितीय ने ऐसे परीक्षार्थियों पर एफआईआर दर्ज कराने की बात रही है।

UP Board Exam: उत्तर पुस्तिका के साथ खिलवाड़ करना परीक्षार्थियों को पड़ेगा भारी, दर्ज होगी एफआईआर
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,आगराSun, 25 Feb 2024 09:17 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षा में उत्तर पुस्तिका को लेकर जाना या फाड़ना छात्रों को भारी पड़ेगा। जिला विद्यालय निरीक्षक द्वितीय डॉ. आईपीएस सोलंकी ने ऑनलाइन जनपद के समस्त परीक्षा केन्द्र व्यवस्थापकों, स्टेटिक मजिस्ट्रेट बैठक की। बैठक में उन्होंने कहा कि परीक्षा समाप्ति तक अपने विद्यालय में बने स्ट्रांग रूम में उचित प्रकाश की व्यवस्था एवं उच्च गुणवत्ता के इंटरनेट का प्रयोग करना सुनिश्चित करें। ताकि निगरानी में कोई समस्या ना हो।

डॉ. सोलंकी ने कहा कि डीवीआर से किसी प्रकार की कोई छेड़छाड़ न की जाए। यदि डीवीआर खराब हो जाए और बदलना आवश्यक हो तो इसकी अनुमति जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय से अवश्य ली जाए। लिंग और विषय से संबंधित समस्या पर उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय सचिव एवं डीआईओएस ऑफिस के द्वारा दिए गए निर्देशों के क्रम में इसे संबंधित कॉलेज से पुष्टि करते हुए अंडरटेकिंग लेकर बच्चों को परीक्षा में शामिल कराया जाए। उन्होंने कहा कि जहां कक्ष निरीक्षकों की कमी है, वह तुरंत अपनी डिमांड प्रेषित करें। सुबह और शाम की परीक्षा पलियों की उत्तर पुस्तिकाएं समय से संकलन केंद्र पर जमा करा दें। यदि कोई परीक्षार्थी परीक्षा के दौरन उत्तर पुस्तिका फाड़ देता है या उत्तर पुस्तिका लेकर चला जाता है तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएं। इसके बाद भी किसी केंद्र पर अनियमिताएं दिखेंगी तो सेंटर को डिबार करने की संस्तुति करते हुए कड़ी कार्यवाही अमल में लायी जाएगी।

बोर्ड परीक्षा में सीसीटीवी की निगरानी से खिलवाड़ कॉलेजों को भारी पड़ेगा। जिला विद्यालय निरीक्षक दिनेश कुमार के अनुसार लगातार यह संज्ञान में आया है कि डबल वॉयस रिकॉर्डर युक्त सीसीटीवी की कनेक्टिविटी बीच-बीच में बाधित हो जाती है जिससे परीक्षा कक्ष कन्ट्रोल रूम में नहीं दिख रहे हैं। ऐसे में केन्द्रों को निर्देश दिए गए है कि सीसीटीवी की कनेक्टविटी सुनिश्चित करें। हाईस्पीड इन्टरनेट, इन्वर्टर, जनरेटर व्यवस्था रखें। इसके बाद भी यदि आपके परीक्षा केंद्र की मॉनीटरिंग के सम्बन्ध में राज्य स्तरीय, जिला स्तरीय और बोर्ड कार्यालय स्तरीय मॉनीटरिंग कन्ट्रोल रूम से कनेक्टिविटी शिकायत प्राप्त होती है, तो ऐसे परीक्षा केन्द्र को डिबार किया जाएगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें