DA Image
28 अक्तूबर, 2020|8:38|IST

अगली स्टोरी

गोरखपुर में फिल्मी स्टाइल में हत्या: स्कूटी से जा रही मां-बेटी को बीच सड़क पर गोलियों से भूना, एक की मौत

गोरखपुर में रविवार की दोपहर फिल्‍मी स्‍टाइल में बाइक सवार बदमाशों ने मां-बेटी को बीच सड़क पर गोलियों से भून दिया। इस सनसनीखेज वारदात में मां की मौत हो गई जबकि बेटी गम्‍भीर रूप से घायल है। घटना गोरखपुर के शाहपुर थाना क्षेत्र के बशारतपुर इलाके में हुई। 

राजीव नगर की रहने वाली रहने वाली 40 वर्षीय निवेदिता मेजर उर्फ डेविना पत्नी मनीष मेजर कुशीनगर जिले में सुकरौली ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय बेंदुआर में प्रधानाध्यापिका थीं। वह अपनी बेटी डेल्फिना के साथ स्कूटी से रामजानकी नगर स्थित अपनी ससुराल जा रही थीं। अभी वे आशियाना भवन मोड़ के पास ही पहुंची थीं कि बाइक सवार बदमाशों ने ओवरटेक कर मां-बेटी पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं। दोनों बदमाश हेल्‍मेट पहने हुए थे। गोली लगने से शिक्षिका डेविना मेजर की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उनकी बेटी गंभीर रूप से घायल हो गई। गोलियों की तड़तड़ाहट सुनकर आसपास के लोग घरों से बाहर निकल गए। भीड़ जुटती देख हमलावर फायरिंग करते हुए फरार हो गए। 

यह वारदात दिन के साढ़े 12 बजे सड़क के बीचोंबीच हुई। जिस जगह यह वारदात हुई वहां खासी चहल पहल भी थी। आसपास की दुकानें भी खुली थीं। घटनास्‍थल से कुछ ही दूरी पर एक पुलिस पिकेट भी है जहां पुलिसवाले हर वक्‍त मौजूद रहते हैं। सूचना पर पहुंचे डीआईजी, एसएसपी व अन्य पुलिस अफसरों ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और स्थानीय लोगों से जानकारी ली। पुलिस ने घटना की वजह भूमि को लेकर रंजिश मानते हुए कुछ लोगों को पूछताछ के लिए उठाया है। 

दो युवतियों ने पहुंचाया अस्पताल

गोली लगने के बाद खून से लतफथ गिरी मां-बेटी के ऊपर से स्कूटी गिरी हुई थी। लोगों ने स्कूटी को हटाया। इस दौरान बेटी दर्द से कराह रही थी, जबकि मां शांत पड़ी थी। घटनास्थल से सटे ही आशियाना भवन की दो युवतियों ने एक अन्य युवक के साथ मिलकर मां-बेटी को उठाकर मेडिकल कॉलेज पहुंचाया। डॉक्टरों के मुताबिक डेविना की पहले ही मौत हो चुकी थी। जबकि डेल्फिना की हालत गंभीर होने पर उसे आईसीयू में भर्ती किया गया है। लोगों ने महिला का पर्स और मोबाइल उठा लिया था। पुलिस के पहुंचने के बाद पर्स और मोबाइल पुलिस को सौंप दिया। पर्स में 10,000 रुपये भी थे।

प्रत्‍यक्षदर्शियों ने दी पति को सूचना

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बाइक सवार दोनों बदमाश हेलमेट पहने हुए थे। स्थानीय लोगों ने घटना की जानकारी डेविना के पति मनीष मेजर के साथ पुलिस को दी। मनीष मेजर अपनी पत्नी से अलग रहता है। मां-बेटी पर दिनदहाड़े हुए हमले की खबर मिलने के बाद आसपास के इलाके में हड़कम्प मच गया। 

मौके से पिस्टल के पांच खोखे बरामद
घटना की सूचना मिलते ही डीआईजी राजेश डी मोडक, एसएसपी जोगेन्द्र कुमार, एसपी सिटी डॉ. कौस्तुभ, सीओ क्राइम और शाहपुर पुलिस मौके पर पहुंच गई। शाहपुर पुलिस ने मौका-ए वारदात से पांच खोखे बरामद किए हैं। सभी खोखे पिस्टल के बताए जा रहे हैं। डेविना कुशीनगर जिले के अहिरौली स्थित प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापिका थीं। पुलिस का कहना है कि हमलावरों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

दो बच्चों की मां थीं डेविना
शिक्षिका डेविना मेजर दो बच्चों की मां थीं। 16 वर्षीय बेटी डेल्फिना मां के साथ थी, जो गोली लगने से गंभीर रूप से घायल है। जबकि 13 वर्षीय बेटा ईथान उर्फ आरुष घर पर है। बेटी शहर के लिटिल फ्लावर स्कूल में दसवीं की छात्रा है और बेटा ईथान सातवीं में पढ़ता है। डेविना दो बहने थीं। मायका और ससुराल पांच सौ मीटर की दूरी पर है। डेविना की बहन की शादी बस्ती में हुई है| 

शाहपुर इलाके में मां-बेटी को गोली मारी गई है, मां की मौत हो गई बेटी का इलाज चल रहा है। बदमाशों की तलाश के लिए दो टीमें गठित की गई हैं। सर्विलांस की भी मदद ली जा रही है। घटना वजह अभी साफ नहीं हो पा रही है। जल्द ही बदमाशों को पकड़ कर खुलासा किया जाएगा।
जोगेन्द्र कुमार, एसएसपी
 

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:film style murder in Gorakhpur firing on mother daughter on road in daytime