DA Image
29 अक्तूबर, 2020|9:18|IST

अगली स्टोरी

फिल्मी रामलीला: भगवान राम के जन्म से आह्लादित हुई अयोध्या VIDEO

अयोध्या में शारदीय नवरात्र के अवसर पर लक्ष्मणकिला में पहली बार आयोजित फिल्मी कलाकारों की रामलीला के दूसरे दिन भगवान राम के भावमय जन्म की लीला मंचन ने सम्पूर्ण प्रकृति को आह्लादित कर दिया। सृष्टि के आरम्भ में प्रथम पुरुष महाराज मनु व सतरूपा स्वरूप प्रकृति की प्रार्थना के फलस्वरूप मिले वरदान के अलावा अलग-अलग कारणों से अखिल ब्रह्मांड नायक परात्पर ब्रह्म का अवतरण अवश्यम्भावी हो गया था। इंजतार था तो शुभ घड़ी का, प्रतीक्षा की वह घड़ी समाप्त हुई और अवध के चक्रवर्ती नरेश महाराज दशरथ के राजमहल में शिशु रूप में परमात्मा का अवतरण हो गया।

रामायण के सम्पूर्ण प्रसंग के मंचन के लिए नौ दिनों की सीमित अवधि ने निर्देशक को मजबूर किया कि चलचित्र की तरह प्रमुख घटनाओं को दर्शाते अपनी मंजिल पर पहुंचे। इसी मजबूरी में भगवान जन्म के बाद महर्षि विश्वामित्र का आगमन और यज्ञ रक्षा के लिए भगवान राम और अनुज लक्ष्मण को साथ भेजने के आग्रह के उपरांत ताड़का-सुबाहु का वध रोमांचित करने वाला दृश्य रहा। इसके पहले कुलगुरु महर्षि वशिष्ठ की ओर से भगवान की शिक्षा-दीक्षा व शस्त्र विद्या का ज्ञान दान की लीला मंचन परम्परागत रामलीला की लीक से हटकर दर्शाया गया। 

रामायण के प्रसंग में फिल्म जगत के बड़े स्टार के रूप में अवतार गिल ने जहां सुबाहु की भूमिका निभाई। वहीं अलग-अलग भूमिकाओं में जूनियर आर्टिस्टों की भाव प्रवणता, संवाद की प्रभावशाली अदायगी के अलावा  उनकी चपलता और वस्त्र विन्यास खासा मनमोहक रहा। इसके अतिरिक्त लाइट-साउंड के साथ तकनीक के संयोजन ने पूरे आयोजन को भव्यता प्रदान की जिसकी तारीफ में दर्शकों के पास शब्द कम पड़ गये हैं। इस रामलीला के निर्देशक प्रवेश कुमार बताते हैं कि उन्होंने मंचन के लिए राधेश्याम रामायण का सहारा लिया है और रामचरितमानस से चौपाइयां ली है। इसके साथ प्रस्तुति को आकर्षक बनाने के लिए विशेष प्रसंगों को अन्य ग्रंथों से जोड़ा है।

रामलीला देखने के लिए किसी दिन आ सकते हैं सीएम
अयोध्या। मेरी मां फाउंडेशन व अयोध्या की रामलीला संस्था के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित रामलीला के आयोजक सुभाष मलिक ऊर्फ बाबी बताते हैं कि पश्चिम दिल्ली के सांसद प्रवेश साहब सिंह वर्मा के साथ हम सभी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिले थे। हमने रामलीला का आमन्त्रण देते हुए उदघाटन का आग्रह किया था। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी ने आमन्त्रण को स्वीकार कर लिया और उदघाटन के बजाय किसी एक दिन अवश्य आने का भरोसा दिलाया है। उन्होंने बताया कि इस रामलीला का आमन्त्रण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी भेजा गया है और दशहरा के अवसर पर रावण वध इस बार अयोध्या में करने का आग्रह किया गया है।  

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Film Ramlila Ayodhya was delighted by the birth of Lord Ram