ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशपिता ने बेटे को दे दी आयोग की कॉपी, SSC परीक्षा में पकड़े गए अभ्‍यर्थी के खुलासे से मचा हड़कंप 

पिता ने बेटे को दे दी आयोग की कॉपी, SSC परीक्षा में पकड़े गए अभ्‍यर्थी के खुलासे से मचा हड़कंप 

SSC परीक्षा देने कानपुर के पीएसआईटी कॉलेज पहुंचे अभ्यर्थी के पास से आयोग की कॉपी बरामद हुई तो हड़कंप मच गया। अभ्यर्थी ने पूछताछ में बताया कि कॉपी पिता ने दी है। वह प्रिंटिंग प्रेस में काम करते हैं।

पिता ने बेटे को दे दी आयोग की कॉपी, SSC परीक्षा में पकड़े गए अभ्‍यर्थी के खुलासे से मचा हड़कंप 
Ajay Singhहिंदुस्‍तान,कानपुरSun, 19 Nov 2023 01:47 PM
ऐप पर पढ़ें

SSC Exam: कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) की परीक्षा देने कानपुर के पीएसआईटी कॉलेज पहुंचे अभ्यर्थी के पास से आयोग की कॉपी बरामद हुई तो हड़कंप मच गया। अभ्यर्थी ने पूछताछ में बताया कि कॉपी पिता ने दी है और वह प्रिंटिंग प्रेस में काम करते हैं। परीक्षा व्यवस्थापक ने रिपोर्ट दर्ज कराई।

दिल्ली के फजलपुर निवासी शुभम गोसाई कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित दिल्ली पुलिस भर्ती परीक्षा देने 16 नवंबर को शहर आया था। उसका सेंटर भौंती स्थित पीएसआईटी कॉलेज में दूसरी पाली में था। दोपहर 12:30 बजे कक्ष निरीक्षक सूरज ने उसके पास आयोग की कमीशन कॉपी पाई। जबकि निरीक्षक द्वारा दी गई कमीशन कॉपी को वह पहले ही भर चुका था। अतिरिक्त कॉपी देखकर निरीक्षक ने उसे पकड़कर परीक्षा कराने वाली कंपनी के अधिकारियों को सौंपते हुए पूरा मामला बताया।

अधिकारियों ने उसे परीक्षा से बाहर कर पुलिस को सौंप दिया है। सचेंडी थाना प्रभारी ने बताया कि न्यूएज टेक्नोलॉजी के परीक्षा व्यवस्थापक विक्रमजीत सिंह की तहरीर पर शुक्रवार को धोखाधड़ी और संपत्ति के दुरुपयोग में रिपोर्ट दर्ज की।

आरोपी ने पूछताछ में बताया कि उसके पापा प्रिंटिंग प्रेस में काम करते हैं। पुलिस ने आरोपित अभ्यर्थी शुभम गोसाई से पूछताछ की तो उसने बताया कि पिता प्रवीर सिंह उस प्रिंटिंग प्रेस में काम करते हैं जहां यह कमीशन कॉपी प्रिंट होती है। मेरा रोल नंबर पापा को पता था जब यह कॉपी प्रिंट होते मिली तो उन्होंने निकाल ली। थाना प्रभारी ने बताया कि छात्र को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। पिता को भी आरोपित बनाया जाएगा।

अधिकारियों के सामने खुलती है सील
कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा में अभ्यर्थी के पास से पकड़ी गई कमीशन कॉपी सील पैक होती है। टीसीएस के अधिकारियों के सामने यह कॉपी परीक्षा से पहले खोली जाती है। इस पर न तो कोई प्रश्न होता है और न ही उत्तर लिखना होता है। इस कॉपी पर परीक्षा के समय कम्प्यूटर स्क्रीन पर दिखाया गया एक वाक्य लिखना होता है। अटेंडेंस और बायोमीट्रिक की तरह यह भी एक प्रक्रिया होती है। यह कॉपी आम आदमी पर पहुंचना असंभव है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें