ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशलखनऊ में सीवर की सफाई के दौरान दम घुटने से बाप-बेटे की मौत, योगी के मंत्री ने लिया एक्शन

लखनऊ में सीवर की सफाई के दौरान दम घुटने से बाप-बेटे की मौत, योगी के मंत्री ने लिया एक्शन

लखनऊ में जलकल विभाग की लापरवाही सामने आई है। बुधवार को सीवर की सफाई के दौरान दो बाप-बेटे की दम घुटने बेहोश हो गए। जिससे एक की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दूसरे ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।

लखनऊ में सीवर की सफाई के दौरान दम घुटने से बाप-बेटे की मौत, योगी के मंत्री ने लिया एक्शन
Pawan Kumar Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊThu, 02 May 2024 12:10 AM
ऐप पर पढ़ें

यूपी की राजधानी लखनऊ से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जहां बुधवार शाम सीवर की सफाई के दौरान दो मजदूरों की दम घुटने से मौत हो गई। दोनों रिश्ते में बाप-बेटे थे। सूचना मिलने पर पुलिस, जलकल विभाग और नगर निगम की टीम मौके पर पहुंची। जानकारी के मुताबिक 2 घंटे तक दोनों सीवर में ही फंसे रहे। इसके बाद दोनों को बेहोशी की हालत में बाहर निकाला गया। एक की मौके पर ही दम तोड़ दिया जबकि दूसरे की इलाज के दौरान मौत हो गई। 

ये मामला वजीरगंज थाना क्षेत्र के रेजिडेंसी पार्क का है। सीतापुर के कमलापुर निवासी सोबरन यादव (56) और उनका बेटा सुशील यादव (28) सीवर सफाई का काम कंपनी केके स्पन के साथ करते हैं। इस समय स्मार्ट सिटी एरिया में कम्पनी ने सीवर लेइंग का काम पूरा कर लिया था। केके स्पन कम्पनी को पहले से बिछी सीवर लाइन की सफाई व अन्य जांच करने का ठेका मिला था। इसके तहत ठेकेदार ने बुधवार दोपहर 3:30 बजे सोबरन व सुशील को मैनहोल में उतारा। 

बिना ऑक्सीजन मास्क व अन्य उपकरणों के उतरे दोनों

साथी मजूदरों के मुताबिक सोबरन व सुशील बिना ऑक्सीजन मास्क के मैनहोल में एक साथ उतरे। दोनों लोगों ने सफाई शुरू की। इन लोगों ने कोई और भी सुरक्षा उपकरण नहीं लिये थे। दोनों के उतरने के बाद ऊपर मजदूर दूसरा काम करने लगे थे। इसी दौरान वहां से गुजर रहे वकील अरुण मिश्र को मैनहोल से किसी की कुछ आवाज आने का आभास हुआ। उन्होंने मैनहोल में झांककर देखा तो लगा कि कोई अंदर फंसा हुआ है। इस पर उन्होंने वजीरगंज पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने ही फायर बिग्रेड की टीम को इस बारे में बताया। 

आधे घंटे में दोनों को निकाला गया

सीएफओ मंगेश कुमार के मुताबिक उन लोगों को चार बजे इस हादसे की सूचना मिली थी। दमकलकर्मी अवधेश कुमार ऑक्सीजन मॉस्क पहन कर मैनहोल में उतरा। करीब आधे घंटे की मशक्कत कर सोबरन को निकाला। सोबरन की सांसे ठीक से नहीं चल रही थी। उन्हें बलरामपुर अस्पताल भेजा गया। पांच मिनट के ही अंतराल पर सुशील को भी बाहर निकाल लिया गया। सुशील को केजीएमयू ले जाया गया। दोनों पिता-पुत्र को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। वजीरगंज पुलिस ने सोबरन के घर वालों को हादसे की सूचना दी और शवों को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया।

नगर विकास मंत्री ने 2 इंजीनियर्स को दिया निलंबित 

नगर विकास मंत्री एके शर्मा ने बुधवार को लखनऊ में सीवर सफ़ाई के दौरान हुई दो मज़दूरों की मौत को गंभीरता से लेते हुए जल निगम के दो इंजीनियर्स को निलंबित करने के निर्देश दिए। उनके निर्देश के बाद दोनो अभियंताओं को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इस संबंध में जल निगम शहरी  के मुख्य अभियंता अरुण कुमार ने देर रात आदेश जारी किया है।

एक हफ्ते पहले सीवर में गिरा था बच्चा

लखनऊ के जलविभाग ने सीवर से जुडे़ काम एक प्राइवेट कंपनी मैसर्स केके स्पन को दिया हुआ है। जिसकी एक हफ्ते पहले सीवर में गिरने से एक बच्चे की मौत हो गई थी और अब 2 मजदूरों की जान चली गई है। इस मामले में जलकल विभाग की भी बड़ी लापरवाही सामने आई है।