ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशहाथ में माचिस की तीली लेकर समाधान दिवस में पहुंच गए बाप-बेटी, डीजल की महक से मचा हड़कंप

हाथ में माचिस की तीली लेकर समाधान दिवस में पहुंच गए बाप-बेटी, डीजल की महक से मचा हड़कंप

15 दिन से जमीन विवाद का निपटारा न होने से आहत पिता-पुत्री शनिवार को खुद पर डीजल उड़ेल कर सम्पूर्ण समाधान दिवस में पहुंच गए। तेल की गंध फैलते ही पुलिसकर्मियों ने दोनों को पकड़ लिया।

हाथ में माचिस की तीली लेकर समाधान दिवस में पहुंच गए बाप-बेटी, डीजल की महक से मचा हड़कंप
-
Ajay Singhहिन्‍दुस्‍तान,गोरखपुरSun, 16 Jun 2024 06:18 AM
ऐप पर पढ़ें

Father and daughter: 15 दिन से जमीन विवाद का निपटारा न होने से आहत पिता-पुत्री शनिवार को खुद पर डीजल उड़ेल कर सम्पूर्ण समाधान दिवस में पहुंच गए। तेल की गंध फैलते ही वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने दोनों को पकड़ लिया। दोनों को थाने ले जाया गया और उनसे जानकारी हासिल कर पुलिस ने पीड़ित युवक व दो आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर शांतिभंग में चालान कर दिया।

चौरीचौरा थाना क्षेत्र के डुमरी खास निवासी घनश्याम ने पुलिस को बताया कि सोनबरसा स्थित पैतृक मकान में उसका हिस्सा है। सभी भाइयों का नाम खतौनी में दर्ज है। चार भाई मकान पर काबिज हैं। उनके भाई ने उनके हिस्से के मकान पर कब्जा कर लिया है। वे लोग मकान में निर्माण भी करा रहे हैं लेकिन उनके हिस्से का मकान नहीं दे रहे हैं। वह हिस्सा लेने के लिए पिछले 15 दिनों से तहसील और थाने का चक्कर काट रहे हैं। लेकिन कोई हल नहीं निकल पाया। शनिवार को घनश्याम अपनी पुत्री प्रीति के साथ चौरीचौरा तहसील मुख्यालय पहुंचे और समाधान दिवस में पहुंचने से पहले पिता-पुत्री ने अपने ऊपर डीजल उड़ेल लिया और समाधान दिवस सभागार में दाखिल हो गए।

शरीर से डीजल की बदबू के साथ ही जिन लोगों ने बाहर डीजल गिराते देखा था, उन लोगों ने शोर मचाना शुरू कर दिया। शोर सुनकर हड़कम्प मच गया। प्रीति के पास माचिस थी। वह आग लगा पाती, उससे पहले ही सभागार में मौजूद पुलिसवालों ने दोनों को पकड़ लिया। उन्हें परिसर के बाहर ले गए। समाधान दिवस में मौजूद नायब तहसीलदार संजय कुमार सिंह ने पिता-पुत्री से बात कर पूरे प्रकरण को समझने के साथ ही समाधान का भरोसा दिया।

पैतृक मकान पर कब्जे का है आरोप 
घनश्याम ने बताया कि दूसरे नंबर के भाई राधेश्याम ने सिविल कोर्ट में बंटवारे का मुकदमा किया है। इस कारण एसडीएम ऑफिस से बताया गया कि न्यायालय के आदेश आने तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाएगी। हिस्से के लिए वह बार बार तहसील में प्रार्थना पत्र डालता रहा। व्यवस्था से तंग आकर उसने फैसला किया था कि आज हल नहीं निकलेगा तो वह अपनी बेटी के साथ आत्मदाह कर लेगा। घटना के बाद हरकत में आई चौरीचौरा पुलिस ने घनश्याम समेत विपक्षी राधेश्याम, अश्वनी को भी पुलिस ने थाने पर बुलाकर पूछताछ शुरू कर दी।

तीन का शांति भंग में हुआ चालान

पूछताछ के बाद पुलिस ने डीजल उड़ेलकर समाधान दिवस में पहुंचने वाले घनश्याम और उसके विपक्षी भाइयों राधेश्याम और अश्वनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए शांति भंग में चालान कर दिया। प्रशासनिक अधिकारियों के अनुसार डीजल उड़ेलकर पहुंचे पिता-पुत्री ने तहसील अधिकारियों पर दबाव बनाने का प्रयास किया है। उनके जमीन के बंटवारे को लेकर विवाद का मामला सिविल कोर्ट में लंबित है।

अधिकारियों की मानें तो उसे अपने हिस्से की जमीन पहले ही बंटवारे में मिल चुकी है लेकिन वह जमीन पीछे की ओर है, जिससे उसे कोई लाभ नहीं पहुंच रहा है। इसलिए वह दबाव बनाकर फोरलेन हाईवे की ओर हिस्सा पाना चाहता है। इसलिए वह काफी दिनों से भागदौड़ भी कर रहा है। बात नहीं बनने पर उसने यह हरकत की। चौरीचौरा पुलिस मामले की जांच कर रही है।