ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी पुलिस ने नाइजीरियन ठग को दबोचा, दवाई भेजने के नाम पर डॉक्टर दंपति से की थी लाखों की ठगी

यूपी पुलिस ने नाइजीरियन ठग को दबोचा, दवाई भेजने के नाम पर डॉक्टर दंपति से की थी लाखों की ठगी

यूपी पुलिस ने दिल्ली से नाइजीरियन ठग को दबोचा है। आरोप है कि उसने डॉक्टर बनकर दवाई भेजने के नाम पर एक दंपति से लाखों रुपये की लूट की। फिलहाल फर्रुखाबाद पुलिस ने उसे जेल भेज दिया है।

यूपी पुलिस ने नाइजीरियन ठग को दबोचा, दवाई भेजने के नाम पर डॉक्टर दंपति से की थी लाखों की ठगी
fake wing commander arrested from palam airport
Pawan Kumar Sharmaवार्ता,फर्रुखाबादSat, 22 Jun 2024 06:41 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी की फर्रुखाबाद पुलिस ने लाखों रुपये की साइबर ठगी करने वाले नाइजीरियन ठग को दबोचा। है। आरोप है कि उसने डॉक्टर बनकर एक दंपति से लाखों रुपये ठग लिए थे। पुलिस ने शनिवार को दिल्ली से गिरफ्तार कर लाए गए नाइजीरियन ठग को जेल भेज दिया। 

यह जानकारी पुलिस अधीक्षक विकास कुमार ने देते हुए बताया कि फर्रुखाबाद शहर कोतवाली के मोहल्ला 2/98वी साधवाड़ा स्ट्रीट लोहाई रोड निवासी डॉ अमित शुक्ला (डायरेक्टर अशोक हॉस्पिटल) की पत्नी डॉक्टर शिवानी ने अपने बेटे अर्वन शुक्ला की आंखों के इलाज के लिए फेसबुक के एक विज्ञापन के माध्यम से लंदन के डॉक्टर एलेक्स जे विल से मोबाइल पर दवाई उपलब्ध कराने की बातचीत की थी।

एसपी ने बताया कि लंदन के डॉक्टर एलेक्स जे बिल ने धोखाधड़ी करके दवाई भेजने के नाम पर डॉ अमित शुक्ला की पत्नी डॉक्टर शिवानी से अलग-अलग मोबाइल नंबरों पर 3 लाख 19 हजार रुपए मंगवा लिए और दवाइयां नहीं भेजी। साइबर ठगी का पता चलने पर डॉ. अमित शुक्ला की तहरीर पर फतेहगढ़ थाना साइबर क्राइम पर मुकदमा धारा 420 और 66डी आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया। 

प्रभारी निरीक्षक राजीव कुमार और सर्विलांस पुलिस टीम प्रभारी विशेष कुमार ने विवेचना शुरू करते हुए तमाम मिले साक्ष्यों में नाजीरिया के लागोस के ब्रास स्ट्रीट के रहने वाले 29 साल के ओलाटोय ओलाडेले का नाम सामने आया। डॉक्टर एलेक्स जे विल द्वारा दिए गए कोरियर पते में अंकित मोबाइल नंबर की लोकेशन और सीडीआर के अनुसार थाना साइबर क्राइम और सर्विलांस टीम ने 20 जून  की रात दिल्ली के निहाल विहार थाना क्षेत्र के चंद्रनगर वीर बाजार रोड से नाइजीरियाई ठग को गिरफ्तार कर लिया।  जबकि, 21 जून को रिमांड पर लेने के बाद शनिवार को उसे फर्रुखाबाद जिले की एक अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया।