ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशकिसान आंदोलन: 21 फरवरी को यूपी समेत इन राज्यों में बीकेयू करेगी प्रदर्शन, ट्रैक्टर मार्च निकालने की भी तैयारी

किसान आंदोलन: 21 फरवरी को यूपी समेत इन राज्यों में बीकेयू करेगी प्रदर्शन, ट्रैक्टर मार्च निकालने की भी तैयारी

मुजफ्फरनगर में आयोजित किसान पंचायत में भारतीय किसान यूनियन ने भी आंदोलन की घोषणा कर दी। राकेश टिकैत ने कहा कि 21 फरवरी को दिल्ली, हरियाणा, यूपी और उत्तराखंड के जिला मुख्यालयोंमें प्रदर्शन होगा।

किसान आंदोलन: 21 फरवरी को यूपी समेत इन राज्यों में बीकेयू करेगी प्रदर्शन, ट्रैक्टर मार्च निकालने की भी तैयारी
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,मुजफ्फरनगरSat, 17 Feb 2024 09:11 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के मुजफ्फरनगर के सिसौली में आयोजित किसान पंचायत में भारतीय किसान यूनियन ने भी आंदोलन की घोषणा कर दी। राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि आंदोलन के तहत 21 फरवरी को दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन होगा। 26-27 फरवरी को हरिद्वार से लेकर गाजीपुर तक ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे। संयुक्त किसान मोर्चा की सलाह पर दिल्ली कूच करने से पीछे नहीं हटेंगे। अगर सहमति बनी तो यह देशव्यापी आंदोलन होगा।

किसान नेता राकेश टिकैत ने यह भी साफ किया कि एमएसपी कानून की मांग के समर्थन में निकाले जाने वाले ट्रैक्टर मार्च से आमजन को परेशानी नहीं होगी। कहा कि एक तरफ का हाईवे चलता रहेगा और दूसरी तरफ ट्रैक्टर चलेंगे। लोग भी देखें कि किसान किस तरह आंदोलन करता है। उन्होंने कहा कि अगर अटल-आडवाणी की सरकार होती तो किसानों की सुनी जाती। हमको किसान हड़ताल करनी पड़ी तो करेंगे। किसान यह सोच लेंगे कि एक साल फसल ही नहीं हुई। उन्होंने किसानों से आह्वान किया कि आठ साल तक किसान आंदोलन के लिए कमर कस कर तैयार रहें। हम सरकार से डरने वाले नहीं है। हमारे सामने फसल और नस्ल बचाने की चुनौती है। उत्तर प्रदेश के अलावा दिल्ली, हरियाणा और उत्तराखंड के किसान मौजूद रहे।

दिल्ली की तरफ मुंह होगा ट्रैक्टर का

हरिद्वार से गाजीपुर तक ट्रैक्टर मार्च के साथ समपूरक दूसरा विरोध प्रदर्शन भी होगा। संयुक्त किसान मोर्चा को प्रस्ताव भेजा जाएगा कि 26 और 27 फरवरी को हरिद्वार से गाजीपुर तक ट्रैक्टर मार्च के दौरान किसान अपने-अपने गांव के बाहर हाईवे पर ट्रैक्टरों के मुंह दिल्ली की ओर खड़े कर विरोध जताएं। राकेश टिकैत ने यह भी कहा कि हम कुर्बानी देने को तैयार हैं, गोली चले तो चले। किसान आंदोलन में टिकैत परिवार के सदस्य को गोली खानी होगी तो भी हम पीछे नहीं हटेंगे।

टूट कर जहां जाना है जाओ

राकेश टिकैत ने एनडीए में जा रहे रालोद पर सांकेतिक टिप्पणी की। टिकैत ने कहा कि टूट कर जिसे जहां जाना है, जाओ। किसानों के मुद्दे पर हमारे साथ रहो। किसानों को धोखा देने का काम मत करो।

संयुक्त किसान मोर्चा से वार्ता करे सरकार

राकेश टिकैत ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा का आंदोलन अलग है, उसकी कॉल अलग है। हरियाणा और पंजाब के किसानों के साथ गलत हुआ, इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सब किसान एक हैं, सरकार डराने का काम करेगी तो किसान डरेगा नहीं। सरकार को बात करनी है तो संयुक्त किसान मोर्चा के 40 पदाधिकारियों से करे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें