ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशपंजाब में किसानों का आंदोलन शुरू, यूपी-बिहार से गुजरने वाली कई ट्रेनें कैंसिल

पंजाब में किसानों का आंदोलन शुरू, यूपी-बिहार से गुजरने वाली कई ट्रेनें कैंसिल

पंजाब के किसान-मजदूर संगठनों ने अपनी मांगों को लेकर गुरुवार से 30 सितंबर तक रेल रोको आंदोलन शुरू कर दिया है। किसान पंजाब भर में रेलवे लाइनों पर बैठ गए हैं। इससे ट्रेन सेवा पर बड़ा असर पड़ा है।

पंजाब में किसानों का आंदोलन शुरू, यूपी-बिहार से गुजरने वाली कई ट्रेनें कैंसिल
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,मुरादाबादThu, 28 Sep 2023 11:19 PM
ऐप पर पढ़ें

पंजाब के किसान-मजदूर संगठनों ने अपनी मांगों को लेकर गुरुवार से 30 सितंबर तक रेल रोको आंदोलन शुरू कर दिया है। किसान पंजाब भर में रेलवे लाइनों पर बैठ गए हैं। रेलवे ट्रैक जाम होने के बाद दिल्ली से अमृतसर, पठानकोट से अमृतसर और पंजाब से चंडीगढ़ के रेलवे ट्रैक पर ट्रेनों का चक्का जाम हो गया है। ट्रेनों का चक्का जाम होने के कारण सैकड़ों यात्री पंजाब के रेलवे स्टेशनों पर फंस गए हैं। शुक्रवार को चलने वाली अमृतसर-हावड़ा पंजाब मेल को रद कर दिया गया। इसके साथ ही अमृतसर-देहरादून समेत छह ट्रेनें रद की गई हैं, जबकि पांच ट्रेनों को बीच रास्ते स्थगित कर दिया। चार अन्य ट्रेनों को बदले रूट से चलाया जा रहा है। जालंधर कैंट में किसान अपनी मांगों को लेकर ट्रैक पर पहुंच गए और रेल संचालन रोक दिया। आंदोलनकारी नहीं हटे तो रेल संचालन में फेरबदल करना पड़ा।

पंजाब मेल(13006) को रद कर दिया। इसके अलावा अमृतसर-देहरादून(14632-31),जननायक(15212), अमृतसर-देहरादून जनशताब्दी-12054, शहीद एक्सप्रेस-14674 रद की गई। श्रीमाता वैष्णोदेवी -योगनगरी (14610), बेगमपुरा एक्सप्रेस-12237,सियालदाह (13151), किसान एक्सप्रेस-13307, लोहित एक्सप्रेस-15653 को डायवर्ट किया गया है। नई दिल्ली- अमृतसर 12013 शताब्दी,जलियांवला बाग-18103 को लुधियाना में शार्ट टर्मिनेट किया गया है। 29 सितंबर को दुर्गियाना (12318) को लुधियाना, न्यूतिनसुकिया-अमृतसर-15933 को अंबाला से संचालित किया जाएगा। 

ये ट्रेने भी हुई प्रभावित
-12331 हिमगिरी एक्सप्रेस वाया जालंधर-नाकोदर जंक्शन
-12238 जम्मूतवी-वाराणसी एक्सप्रेस वाया जालधंर-नाकोदर जंक्शन 
-14674 अमृतसर-जयनगर एक्सप्रेस रद्द
-18238 अमृतसर-वाराणसी एक्सप्रेस रद्द
-14617 बनबंखी-अमृतसर एक्सप्रेस वाया लुधियाना
-13308 गंगासतलुज एक्सप्रेस रद्द
-12317 कोलकाता-अमृतसर एक्सप्रेस वाया लुधियाना
-12407 कर्मभूमि एक्सप्रेस अंबाला तक
-14711 श्रीगंगानगर एक्सप्रेस अंबाला तक 
-12470 जम्मूतवी-कानपुर सेंट्रल एक्सप्रेस वाया जालंधर-नाकोदर जंक्शन

गुरुवार सुबह ही किसान बड़ी संख्या में रेलवे लाइनों के पास इकट्‌ठा होना शुरू हो गए थे। किसान नेता सरवण सिंह पंधेर ने बताया कि किसान तीन दिन की पूरी तैयारी के साथ आए हैं। खाने-पीने व बैठने का पूरा इंतजाम हो चुका है और ट्रॉलियों में सोने के लिए गद्दे भी किसान साथ लेकर आए हैं।

19 जत्थेबंदियों ने 17 जगहों पर रेलवे ट्रैक जाम कर दिया है। इसमें मोगा रेलवे स्टेशन, अजीतवाल व डगरू, होशियारपुर, गुरदासपुर व डेरा बाबा नानक, जालंधर कैंट, तरनतारन, संगरूर के सुनाम, पटियाला के नाभा, फिरोजपुर के बसती टैंकां वाली व मल्लांवाला, बठिंडा के रामपुरा फूल, अमृतसर के देवीदासपुरा व मजीठा, फाजिल्का, मलेरकोटला के अहमदगढ़ में यह प्रदर्शन अगले तीन दिन तक जारी रहेगा।

हरियाणा के किसान नेता भी पंजाब के समर्थन में आ गए हैं। हरियाणा किसान नेताओं का कहना है कि हरियाणा में पैदल यात्रा पहले से चल रही है। अगर पंजाब में किसानों के साथ अन्याय हुआ या पुलिस ने कोई जोर-जबरदस्ती करने की कोशिश की तो हरियाणा के किसान भी पंजाब की तरफ कूच कर लेंगे। इसके बाद बड़ी गिनती में आंदोलन शुरू हो जाएगा।

किसानों के आंदोलन को देखते रेल यातायात पर प्रभाव पड़ सकता है। जिन लोगों ने पहले ही ट्रेनों में टिकट बुकिंग करवा रखी है, उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। ट्रेनों में चलने वाले डेली पैसेंजर को बसों में सफर करना पड़ सकता है।

यह है मांग
किसानों का कहना है कि बाढ़ और बरसात से फसलों का भारी नुकसान हुआ है। बहुत सारे किसानों की न तो अभी तक गिरदावरी हुई है और न ही उन्हें मुआवजा मिला है। जिन्हें मिला भी है, वह बहुत कम है। किसान संगठनों का कहना है कि कम से कम प्रति एकड़ 50 हजार रुपए मुआवजा किसानों को दिया जाए। साथ ही केंद्र सरकार भी बाढ़ से हुए नुकसान के लिए 50 हजार करोड़ रुपए पंजाब को दे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें