ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशआपकी गाड़ी के कागजात फर्जी तो नहीं, डीएल, आरसी, इंश्योरेंस तक फेक बनाने वाला जालसाज गिरफ्तार

आपकी गाड़ी के कागजात फर्जी तो नहीं, डीएल, आरसी, इंश्योरेंस तक फेक बनाने वाला जालसाज गिरफ्तार

जालसाज लोगों को लूटन के लिए तरह तरह की तरकीबे निकाल रहे हैं। पुलिस ने कुशीनगर में ऐसे जालसाज का खुलासा किया है जो ऐसा काम कर रहा था जिसके लिए आरटीओ आफिस के पास जिम्मेदारी है। कागजात फर्जी बनाता था।

आपकी गाड़ी के कागजात फर्जी तो नहीं, डीएल, आरसी, इंश्योरेंस तक फेक बनाने वाला जालसाज गिरफ्तार
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,तमकुहीराज (कुशीनगर)Mon, 06 Nov 2023 07:54 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी बिहार सीमा पर स्थित कुशीनगर में पुलिस ने ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो फर्जी डीएल तो बनाता ही था, फर्जी आरसी, फर्जी इंश्योरेंस, फर्जी परमिट बी बनाता था। इतनी बारीकि से इन्हें बनाता था कि अधिकारी भी इसे असली मान लें। इनके पास से पुलिस ने अधिकारियों की 56 मुहर, 25 आरसी, फर्जी डीएल, इंश्योरेंस, ट्रांसपोर्ट प्रपत्र आदि कागजात बरामद किए हैं। बिहार बार्डर पर बैठकर लैपटॉप से विभिन्न राज्यों के फर्जी पेपर तैयार करता था। कुशीनगर के तमकुहीराज थाने की पुलिस ने क्षेत्र के बनवरिया गांव से जालसाज को गिरफ्तार किया है। 

तमकुही राज के सीओ जितेंद्र सिंह कालरा ने सोमवार को क्षेत्राधिकारी कार्यालय में प्रेसवार्ता कर खुलासा किया कि पुलिस को फर्जी पेपर तैयार करने वाले जालसाज के बारे में सूचना मिली थी। इस आधार पर पुलिस टीम ने तमकुही राज थानाक्षेत्र के बनवरिया गांव में छापा मारकर यहां के दिनेश भारती को गिरफ्तार कर लिया है। सीओ ने बताया कि वह अपने घर के अंदर लैपटॉप व प्रिंटर से विभिन्न प्रदेश के वाहनों से संबंधित प्रपत्र तैयार करता था। इसमें वह विभिन्न अधिकारियों के नाम, पदनाम की मुहर का इस्तेमाल करता था। फर्जी अधिकारी बनकर खुद कागजात तैयार करता था। आरोपी के पास से अधिकारियों की 56 मुहरें, 25 कूटरचित आरसी व भारी संख्या में फर्जी डीएल, इंश्योरेंस, ट्रांसपोर्ट प्रपत्र, परमिट आदि बरामद किए गए हैं।

सीओ ने बताया कि अंतरप्रांतीय स्तर पर फर्जी कागजात के सहारे वह अधिकारियों को गुमराह कर सरकार को राजस्व की चपत लगाता था। कई राज्यों के वाहन स्वामियों को झांसे में लेकर फर्जी पेपर देकर ठगता था। वाहन स्वामियों को बताता था कि वह अधिकारियों से वार्ता कर ऑनलाइन पेपर तैयार कराता है। पुलिस अधीक्षक ने गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को 25 हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की है। मामले का खुलासा होने के बाद इनसे कागजात बनवाने वालों में खलबली मची है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें