अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नही रहे मायावती के खास पूर्व विधायक जलील खां, छाया शोक

jaleel khan

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती के करीबियों में माने जाने वाले बसपा के पूर्व विधायक मोहम्मद जलील खां का गुरुवार तड़के निधन हो गया। रमज़ान के दौरान बुधवार रात सहरी के वक्त उन्हें तेज सांस फूलने और सीने में दर्द की शिकायत हुई। परिजन तत्काल जिला अस्पताल लेकर पहुंचे जहां से एक निजी अस्पताल रेफर करने के दौरान उनकी मौत हो गई। गुरुवार इसकी खबर पाते ही जिले में शोक की लहर दौड़ गई है। बेहद मिलनसार और ईमानदार छवि वाले पूर्व विधायक के निधन से उनके पैतृक आवास पर लोगों का तांता लग गया है।

पूर्व विधायक श्री जलील खां जब सहरी करने उठे तो उन्हें तकलीफ हुई। धीरे धीरे उनकी हालत गंभीर होती गई। जब तक उचित इलाज मिल पाता तब तक उन्होंने अंतिम सांस ले ली। कई दशकों से जिले की राजनीति में अपनी एक अलग छवि रखने वाले श्री खां ने 2007 में पहला विधानसभा चुनाव बसपा के टिकट पर लड़ा और विधायक बनें। अपने पांच साल के विधायक के कार्यकाल में ठेके पट्टे के कमीशन से दूर रहे। इसके बाद उन्होंने 2012 में टिकट न मिलने के कारण निर्देलीय चुनाव लड़ा लेकिन पराजित हुए। फिर बसपा सुप्रीमो ने उन्हें वापस बुलाया और फिर 2017 में टिकट दिया। लेकिन इसमें भी वे हार गए। हालांकि इसके बाद भी उन्होंने समाज के अपनी जिम्मेदारी नही छोड़ी। उनके पिता का नाम स्वर्गीय अब्दुल हनी है। स्वर्गीय खां अपने पीछे चार पुत्र और एक पुत्री छोड़ गए हैं। उनके निधन की खबर पर पैतृक आवास जमुनिया बाग मुगलजोत खोरहंसा आवास पर भारी भीड़ जुटी है। डीएम कैप्टन प्रभांशु श्रीवास्तव, एसपी लल्लन सिंह, बसपा नेता मसूद आलम खां, हाजी जकी ने गहरा शोक जताया है। बसपा जिला अध्यक्ष ने बताया कि पूर्व विधायक के निधन की सूचना बसपा राष्ट्रीय अध्यक्ष को दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ex MLA jaleel khan passes away