ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशAI से हैक हो सकती है EVM, एलन मस्क के दावे पर फिर एक्टिव हुए अखिलेश यादव, पूछा- भाजपा क्यों कर रही जिद

AI से हैक हो सकती है EVM, एलन मस्क के दावे पर फिर एक्टिव हुए अखिलेश यादव, पूछा- भाजपा क्यों कर रही जिद

लोकसभा चुनाव के बाद भले ही इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन को लेकर उस तरह से सवाल नहीं उठे जिस तरह से पिछले पहले उठते रहे हैं। लेकिन अब एलन मस्क के दावे के बाद इंडिया में इसे लेकर रार छिड़ गई है।

AI से हैक हो सकती है EVM, एलन मस्क के दावे पर फिर एक्टिव हुए अखिलेश यादव, पूछा- भाजपा क्यों कर रही जिद
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊSun, 16 Jun 2024 04:34 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव के बाद भले ही इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन को लेकर उस तरह से सवाल नहीं उठे जिस तरह से पिछले पहले उठते रहे हैं। लेकिन अब एलन मस्क का दावा सामने आने के बाद एक बार फिर ईवीएम को लेकर विपक्षी गठबंधन ने सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं। अखिलेश यादव ने रविवार को अपना पुराना राग फिर से अलापा। एलन मस्क की खबर को पोस्ट शेयर करते हुए कहा कि आने वाली सभी चुनाव ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से हो। अखिलेश यादव ने यह भाजपा पर निशाना साधते हुए यह भी पूछ लिया कि ईवीएम से ही चुनाव को लेकर बीजेपी क्यों जिद कर रही है। अखिलेश से पहले राहुल गांधी ने भी कहा कि ईवीएम एक ब्लैक बॉक्स है। इसे किसी को भी जांच करने की इजाजत नहीं है। 

अखिलेश यादव ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर लिखा कि ‘टेक्नॉलजी’ समस्याओं को दूर करने के लिए होती है, अगर वही मुश्किलों की वजह बन जाए, तो उसका इस्तेमाल बंद कर देना चाहिए। कहा कि आज जब विश्व के कई चुनावों में EVM को लेकर गड़बड़ी की आशंका ज़ाहिर की जा रही है और दुनिया के जाने-माने टेक्नोलॉजी एक्सपर्ट्स EVM में हेराफेरी के ख़तरे की ओर खुलेआम लिख रहे हैं, तो फिर EVM के इस्तेमाल की ज़िद के पीछे की वजह क्या है, ये बात भाजपाई साफ करें। कहा कि आगामी सभी चुनाव बैलेट पेपर (मतपत्र) से कराने की अपनी मांग को हम फिर दोहराते हैं।

गौरतलब है कि दुनिया की सबसे अमीर शख्सियतों में शुमार टेस्ला के सीईओ एलन मस्क ने शनिवार को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) को लेकर दावा किया कि ईवीएम को हैक किया जा सकता है और इसे खत्म किया जाना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने अमेरिकी चुनावों से इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) को हटाने की मांग की। स्पेसएक्स के सीईओ एलन मस्क की यह टिप्पणी अमेरिका के राष्ट्रपति पद के लिए स्वतंत्र उम्मीदवार रॉबर्ट एफ. कैनेडी जूनियर की एक पोस्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए आई थी।

दरअसल कैनेडी जूनियर ने अपनी पोस्ट में प्यूर्टो रिको के प्राथमिक चुनावों में ईवीएम से संबंधित कथित मतदान अनियमितताओं के बारे में बताया था। एक्स पर एक पोस्ट में कैनेडी जूनियर ने कहा कि एसोसिएटेड प्रेस के अनुसार प्यूर्टो रिको के प्राथमिक चुनावों में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों से संबंधित सैकड़ों वोटिंग से संबंधित अनियमितताएं देखी गईं। सौभाग्य से वहां एक पेपर ट्रेल था, इसलिए समस्या की पहचान की गई और वोटों की गिनती को सही किया गया। सोचिए उन क्षेत्रों में क्या होता होगा जहां कोई पेपर ट्रेल नहीं है? केनेडी जूनियर ने कहा कि अमेरिकी नागरिकों के लिए यह जानना आवश्यक है कि उनके प्रत्येक वोट की गणना की गई है और उनके चुनावों में कोई सेंध नहीं लगाई जा सकती।

उन्होंने यह भी कहा कि चुनावों में इलेक्ट्रॉनिक हस्तक्षेप से बचने के लिए पेपर बैलेट पर वापस लौटना होगा। एक्स पर कैनेडी जूनियर की पोस्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए ही एलन मस्क ने कहा कि हमें इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों को खत्म कर देना चाहिए। मनुष्यों या एआई द्वारा हैक किए जाने का जोखिम हालांकि छोटा है, लेकिन फिर भी बहुत अधिक है।