ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशपाकिस्तानी एजेंट राम सिंह से जुड़े दस खातों से लेनदेन के सबूत मिले, शक न हो इसलिए बैंक में दिए हिन्‍दू नाम

पाकिस्तानी एजेंट राम सिंह से जुड़े दस खातों से लेनदेन के सबूत मिले, शक न हो इसलिए बैंक में दिए हिन्‍दू नाम

पाकिस्तान के लिए जासूसी करने वाले गोरखपुर पिपराइच के राम सिंह से पूछताछ और जांच में दस संदिग्ध खाते सामने आए हैं। इनमें से 8 खातों से रुपये आए हैं तो दो खातों में राम सिंह ने रुपये भेजे हैं।

पाकिस्तानी एजेंट राम सिंह से जुड़े दस खातों से लेनदेन के सबूत मिले, शक न हो इसलिए बैंक में दिए हिन्‍दू नाम
Ajay Singhवरिष्ठ संवाददाता,गोरखपुरThu, 23 May 2024 02:32 PM
ऐप पर पढ़ें

Pakistani agent in ATS custody: पाकिस्तान के लिए जासूसी करने वाले गोरखपुर पिपराइच के राम सिंह से पूछताछ और जांच में दस संदिग्ध खाते सामने आए हैं। इनमें से आठ खातों से रुपये आए हैं तो दो खातों में राम सिंह ने रुपये भेजे हैं। सविता और दूसरे नामों का इस्तेमाल कर राम सिंह को फंसाकर पाकिस्तानी लोगों ने रुपये वसूले। इसका इस्तेमाल अपने विश्वसनीय लोगों को रुपये देकर किया गया है। ये सभी खाते हिंदू, पंजाबी नामों से खोले गए ।

राम सिंह से पूछताछ व जांच में पता चला कि उसने आईएसआई एजेंट को नौसेना के बारे में कई महत्वपूर्ण सूचना व युद्धक जहाजों की जानकारी भेजी है। खाते से लेनदेन की पुष्टि होने के बाद ही एटीएस ने राम सिंह पर राज्य के विरुद्ध अपराध करने की साजिश रचने का मामला दर्ज किया है।

पूछताछ और जांच में मिले सबूतों के आधार पर एटीएस की टीम राम सिंह के सहयोगियों की तलाश कर रही है। एटीएस जांच में पता चला था कि पिपराइच के रमवापुर गांव का रहने वाला राम सिंह एक पाकिस्तानी महिला जासूस कीर्ति कुमारी (फेक नाम) के संपर्क में है और पाकिस्तानी एजेंटों द्वारा राम सिंह के बैंक खाते में लगातार धन भेजा जा रहा है।

इतना ही नहीं, भारतीय नौसेना और सेना की गोपनीय सूचना देने वाले पाकिस्तानी एजेंटों के साथियों को राम सिंह द्वारा धन उपलब्ध कराया गया है। राम सिंह ने सविता और ऐश्वर्या नाम के खाते में रुपये भेजे हैं, जबकि, तरुण, लखन, मैक्सी, अतुल जैसे आठ खातों से रुपये आए हैं। एटीएस ने अपनी जांच तेज कर दी है।