ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशबिजली मीटर से छेड़छाड़ मिली तो... एमडी का अधिकारियों को यह निर्देश, क्या-क्या होगा

बिजली मीटर से छेड़छाड़ मिली तो... एमडी का अधिकारियों को यह निर्देश, क्या-क्या होगा

बिजली मीटर से छेड़छाड़ अब बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अमरोहा में मिली गड़बड़ी पर सुपरवाइजर और बिजली मीटर की बर्खास्तगी के बाद एमडी पश्चिमांचल ने सभी जिले के अफसरों को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

बिजली मीटर से छेड़छाड़ मिली तो... एमडी का अधिकारियों को यह निर्देश, क्या-क्या होगा
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,मुरादाबादFri, 24 May 2024 05:09 PM
ऐप पर पढ़ें

बिजली मीटरों से छेड़छाड़ के मामले कोई नई बात नहीं है, इसको लेकर समय-समय पर जांच में टैंपर्ड मीटर के केस भी मिले और कार्रवाई भी हुई। मुरादाबाद में भी टैंपर्ड मीटर को लेकर पूर्व में कार्रवाई हुई हैं। अमरोहा में दो दिन पूर्व एक उपभोक्ता की शिकायत पर बिजली मीटर में छेड़छाड़ की पुष्टि होने पर आरोपी मीटर रीडर और सुपरवाइजर की सेवा समाप्त कर दी गई, वहीं बिलिंग एजेंसी से भी जवाब मांगा गया है। टैंपर्ड मीटर के मामलों पर एमडी पश्चिमांचल ने नाराजगी जताते हुए पश्चिमांचल के सभी जिलों के मुख्य अभियंता, अधीक्षण अभियंता और अधिशासी अभियंताओं को ऐसे मामलों की जांच कराकर गड़बड़ी मिलने पर कार्रवाई के निर्देश दिए।

कोई दिन जाता होगा जब किसी न किसी डिवीजन में बिजली चोरी के मामले न मिलते हो। इन केसों के मिलने पर कार्रवाई भी लगातार होती हैं। तार में कट लगाकर, तार को मीटर से बाईपास करने सरीखे तरीकों से बिजली चोरी की जाती है। इनके साथ ही बिजली मीटर से छेड़छाड़ के भी केस आए दिन किसी न किसी इलाके में चेकिंग में मिल जाते हैं। मीटर टैंपर्ड मिलने पर एक्सईएन मीटर के एई मौके पर पहुंचकर उपभोक्ता के सामने मीटर की रिपोर्ट तैयार करते हैं। मीटर टैंपर्ड की पुष्टि पर रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को देने के बाद आवश्यक कार्रवाई भी होती है।

इधर, दो दिन पूर्व जिला अमरोहा में उपभोक्ता असलम अली का कामर्शियल मीटर बिना विभागीय स्वीकृति के बदल दिया गया। उतारे गए मीटर की जब लैब में टेस्टिंग हुई, तो साफ हुआ कि मीटर से छेड़छाड़ करके विभाग को राजस्व की हानि पहुंचाई गई। इसके बाद अफसरों की रिपोर्ट पर मीटर रीडर अंकुर, अजयपाल और सुपरवाइजर नरवेंद्र कुमार को सेवामुक्त कर दिया गया। इस कार्रवाई के बाद एमडी पश्चिमांचल ईशा दुहन ने 14 जिलों में निर्बाध बिजली के साथ चोरी के केसों पर लगाम लगाते हुए आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए।

इसके साथ ही टैंपर्ड मीटर के केसों में भी सख्ती के साथ कार्रवाई और आरोपियों को आउट करने की कार्रवाई को कहा। एमडी के निर्देश के बाद से डिवीजन के मीटर रीडरों में खलबली मच गई है। एक्सईएन मीटर प्रेमपाल सिंह के अनुसार पिछले चार महीनों में कुछ टैंपर्ड केस मिले हैं। इनके खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करते हुए उच्चाधिकारियों को संबंधित केस के बारे में अवगत करा दिया गया है।