DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आजम पर बैन: बेटा अब्दुल्ला बोले- दलित और मुसलमानों की आवाज दबाने की कोशिश

 abdullah azam   ht   photo

समाजवादी पार्टी के रामपुर लोकसभा सीट से प्रत्याशी आजम खां के विवादित बयान के बाद चुनाव आयोग ने उनके 72 घंटे तक प्रचार करने पर प्रतिबंध लगाया है। इसके बाद अब उनके बेटे सपा और विधायक अब्दुल्ला आजम मीडिया से रुबरु हुए। अब्दुल्लाह आजम ने चुनाव आयोग की कार्रवाई पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह कार्रवाई भाजपा को खुश करने के लिए की गई है। अब्दुल्लाह ने कहा कि यदि सिर्फ मुख्यमंत्री योगी पर प्रतिबंध लगाया जाता तो भाजपा के लोग नाराज हो जाते। इसीलिए आजम खां पर प्रतिबंध लगााया गया। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इस प्रतिबंध से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। अब्दुल्लाह ने यह भी कहा कि इस कार्रवाई के जरिए दलित और मुसलमानों की आवाज दबाने की कोशिश की जा रही है।

आपको बता दें कि सपा के रामपुर से प्रत्याशी आजम खां की आज रामपुर में साइकिल रैली और जनसभा प्रस्तावित थी। लेकिन आयोग के प्रतिबंध के बाद आजम खां वहां नहीं पहुंचे और दोपहर करीब 12 बजे आजम के बेटे विधायक अब्दुल्ला आजम ने प्रेसवार्ता कर आजम खान की बात रखी।

यूपी के चार बड़ें नेताओं के प्रचार करने पर लगा बैन, यह पड़ेगा असर

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Election commission impose ban on Azam khan Son Abdullah azam says Trying to suppress the voice of Dalits and Muslims