DA Image
Thursday, December 2, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशबिहार से आठ साल पहले लापता महिला को फेसबुक पर देख चौंका परिवार, बनारस के अपना घर आश्रम ने मिलवाया

बिहार से आठ साल पहले लापता महिला को फेसबुक पर देख चौंका परिवार, बनारस के अपना घर आश्रम ने मिलवाया

वाराणसी लाइव हिन्दुस्तानYogesh Yadav
Thu, 25 Nov 2021 09:08 PM
बिहार से आठ साल पहले लापता महिला को फेसबुक पर देख चौंका परिवार, बनारस के अपना घर आश्रम ने मिलवाया

बिहार के भोजपुर के एक परिवार के साथ ऐसी घटना घटी है जिससे सुनकर लोग अचंभित हैं। आठ साल पहले घर से लापता हो गई महिला की तस्वीर फेसबुक पर देख परिवार वाले चौंक उठे। जिसे खोज-खोजकर पूरा परिवार थक चुका था और हिम्मत हारकर सबकुछ ईश्वर पर छोड़ चुका था। उसे बनारस के अपना घर आश्रम में सामने पाकर खुशी से रो पड़ा। 

भोजपुर की रहने वाली वंदना 2013 में अचानक घर से लापता हो गई थी। मानसिक स्थित ठीक नहीं होने से परिवार वाले परेशान हो गए। गांव से शहर तक खोजबीन की। पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई। नातेदार-रिश्तेदारों के यहां भी दस्तक दी लेकिन कुछ नहीं पता चला। अंततः भगवान की मर्जी मानकर किसी चमत्कार का इंतजार करने लगे। 

वंदना कई साल तक इधर उधर भटकने के बाद किसी तहर बनारस पहुंच गईं। एक महीने वाराणसी में बाईपास रोड पर वंदना को सड़क किनारे किसी ने असहाय स्थित में देखा। इस पर लावारिस और असहाय लोगों की सेवा करने वाली बनारस की संस्था अपना घर आश्रम को इसकी जानकारी दी गई। अपना घर से पहुंची टीम ने देखा तो वंदना के एक हाथ घाव के कारण बुरी तरह सड़ गया था। उसमें कीड़े भी पड़ गए थे।

वंदना को आश्रम लाया गया और दवा के साथ सेवा शुरू हुई तो उन्होंने अपने बारे में बताया। उन्होंने बिहार के भोजपुर में अपना घर होने की जानकारी दी। इसके बाद आश्रम की ओर से भोजपुर के हसन बाजार के थाने में संपर्क किया गया। 

इसी बीच आश्रम की ओर से फेसबुक पर भी वंदना की तस्वीर वायरल करते हुए भोजपुर वालों से उनके परिवार के बारे में पता करने की अपील की गई। संयोग से फेसबुक की तस्वीर परिवार वालों तक पहुंच गई। परिवार वालों ने आश्रम से संपर्क साधा और बेटे के साथ दामाद उन्हें लेने बनारस पहुंच गए। मां को सामने देख बेटे के आंसू निकल पड़े।  

ऑटो वाले की बुरी नीयत से बची महिला पति से मिली

वाराणसी में जंसा थाना क्षेत्र में गोराई बाजार में ऑटो वाले की बुरी नीयत से बची महिला को भी अपने परिवार से अपना घर आश्रम वालों ने मिलवाया। जंसा में असहाय अवस्था में अकेले घूम रही महिला को एक ऑटो वाला अपने साथ जबरिया लेकर जाने लगा था। अपनी इज्जत बचाने के लिए महिला चलती ऑटो से कूद गई। इससे उसके चेहरे और हाथ पर बुरी तरह चोट लगी। 

गोराई बाजार के लोगों ने महिला के बारे में पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने कोर्ट के निर्देश पर महिला को अपना घर आश्रम में भर्ती कराया। पता चला कि उनकी शादी कुछ समय पहले ही हुई थी। मानसिक स्थिति सही नहीं होने की वजह से यह हिमाचल प्रदेश में रह रहे अपने पति से बिछड़ गई थी और भटकते हुए वाराणसी आ गईं। 

आश्रम में इलाज के बाद महिला ने अपने बारे में बताया। इसके बाद सहारनपुर में रह रहे इनके पति तबरेज अनवर खान को सूचना दी गई। वह आश्रम पहुंचे और अचानक बिछड़ गई पत्नी को देखकर बेहद खुश हुए।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें