class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खुलासाः आईआईटी कानपुर में खुलेआम बिक रही ड्रग्स, छात्र कर रहे सेवन

प्रतीक फोटो।

देश के लिए इंजीनियर तैयार करने वाले आईआईटी कानपुर के परिसर में खुलेआम ड्रग्स का कारोबार हो रहा है। हॉस्टल तक में ड्रग्स बेची जा रही है। आस-पास गांव के लोग यहां नशे का सामान सप्लाई कर रहे हैं। अब इसे रोकने को धरपकड़ तेज की जाएगी। यह खुलासा बुधवार रात को जिलाधिकारी और आईआईटी प्रशासन की बैठक में हुआ। 
संस्थान परिसर में हुई बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा हुई। जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि आईआईटी प्रशासन ने ड्रग्स बिकने और छात्रों के सेवन करने की बात बताई है। यह बड़ी बात है। इसलिए संस्थान प्रशासन से बैरियर लगाने को कहा गया है। उनके वार्डन सख्ती करेंगे। अगर फिर भी कोई गांव वाला ड्रग्स बेचते पकड़ा गया तो कार्रवाई होगी। प्रशासन आईआईटी में ड्रग्स नहीं बिकने देगा। इसलिए बिना जांच पड़ताल के कोई भी अंदर नहीं घुसेगा। 
बाहरी वाहनों के लिए बंद होगा मेन रास्ता
सुरक्षा की दृष्टि से आईआईटी के अलावा अन्य आने-जाने वाले वाहन सवारों के लिए मुख्य रास्ता बंद किया जाएगा। डीएम ने बताया कि नानकारी समेत आस-पास रहने वाले अन्य लोगों के लिए अब आईआईटी का मेन रास्ता बंद किया जाएगा। सिर्फ पैदल आने-जाने वाले लोग जांच पड़ताल कराकर अंदर जा सकेंगे। आईआईटी से मंधना की ओर जाने पर दूसरा रास्ता तैयार हो गया है। उसे आस-पास के लोगों के लिए खोला जाएगा। इसके लिए उनको 1.2 किलोमीटर ज्यादा सफर तय करना होगा। चेकिंग करने में इससे ज्यादा समय लग जाता है। अब बिना चेकिंग कोई अंदर नहीं घुसेगा। 
केंद्रीय विद्यालय के लिए बनेंगे पास
आईआईटी परिसर में चल रहे केंद्रीय विद्यालय के छात्र और शिक्षक मेन गेट का ही इस्तेमाल करेंगे। इसके लिए केंद्रीय विद्यालय को आईआईटी प्रशासन की ओर से पास जारी किया जाएगा। इस पास को दिखाकर ही आईआईटी परिसर में प्रवेश होगा। बिना पास के प्रवेश नहीं मिलेगा। सभी को गेट पर पास दिखाने के बाद ही इंट्री मिलेगी। 
अवैध कब्जा किए 24 धोबी हटेंगे
आईआईटी प्रशासन की ओर से छात्रों के कपड़े धोने के लिए 24 धोबियों को जगह दी गई थी। अब सभी हॉस्टलों में वाशिंग मशीन आ गई है। इसके बावजूद धोबी कब्जा किए हुए हैं। इन्हें हटाया जाएगा। डीएम ने बताया कि अवैध कब्जा किए धोबियों को हटाया जाएगा। इसके लिए प्रशासन आईआईटी को पूरी सुरक्षा मुहैया कराएगा। अवैध कब्जाधारी बचेंगे नहीं। 
प्रशासन उठाएगा प्रभावी कदम
जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि आईआईटी देश का नामचीन संस्थान है। निदेशक ने कुछ समस्या बताई है, जिसे जल्द से जल्द हल कराया जाएगा। इसके लिए संस्थान प्रशासन को खुद तैयारी करने का आदेश दिया गया है। जब उनकी तैयारी पूरी हो जाएगी तो नई व्यवस्था लागू कर दी जाएगी। बाहरी आवागमन आईआईटी में बंद कराया जाएगा। ड्रग्स बिकना रुकवाया जाएगा। 
डीएम से कई मुद्दों पर हुई चर्चा
आईआईटी के निदेशक मणीन्द्र अग्रवाल के मुताबिक जिलाधिकारी के साथ बैठक हुई है। इसमें रास्ता, ड्रग्स समेत अन्य बिंदुओं पर चर्चा हुई है। आस-पास रहने वाले लोगों का प्रवेश मेन गेट से होने से सुरक्षा में दिक्कत आ रही है। बाहरियों के आवागमन से आईआईटी में व्यवधान उत्पन्न हो रहा है। इसके लिए प्रशासन ने मदद का आश्वासन दिया है। नई व्यवस्था जल्द लागू होगी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Drugs being openly sold in IIT Kanpur
मुंबई के समुद्र में आया अोखी चक्रवात, अचानक युवक लापता सिकंदरा विधानसभा उपचुनाव : पवन का पर्चा वापस, 11 प्रत्याशी मैदान में