ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी में महंगा हुआ अपने घर का सपना, आवास विकास ने 16% तक बढ़ा दीं जमीन की कीमतें 

यूपी में महंगा हुआ अपने घर का सपना, आवास विकास ने 16% तक बढ़ा दीं जमीन की कीमतें 

UP आवास विकास परिषद ने प्रदेश भर की अपनी विभिन्न योजनाओं में जमीन की कीमतें बढ़ा दी हैं। इनमें तीन से लेकर लगभग 16 प्रतिशत तक की बढ़ोत्तरी की गयी है। बढ़ी दरें तत्काल प्रभाव से लागू कर दी गई हैं।

यूपी में महंगा हुआ अपने घर का सपना, आवास विकास ने 16% तक बढ़ा दीं जमीन की कीमतें 
Ajay Singhप्रमुख संवाददाता,लखनऊSat, 15 Jun 2024 10:22 AM
ऐप पर पढ़ें

Price of houses in Avas Vikas: उत्तर प्रदेश आवास विकास परिषद ने प्रदेश भर की अपनी विभिन्न योजनाओं में जमीन की कीमतें बढ़ा दी हैं। इनमें तीन से लेकर लगभग 16 प्रतिशत तक की बढ़ोत्तरी की गयी है। बढ़ी दरें तत्काल प्रभाव से लागू कर दी गयी हैं। आवास विकास लखनऊ की अवध विहार, वृन्दावन तथा गोकुल ग्राम बीबी खेड़ा योजना में भूखण्डों की कीमतें बढ़ायी गयी हैं। कानपुर, गाजियाबाद, प्रयागराज, वाराणसी, बस्ती, गोरखपुर, सुल्तानपुर, झांसी, इटावा तथा अलीगढ़ सहित कई शहरों में कीमतें बढ़ायी गयी हैं।

उत्तर प्रदेश आवास विकास परिषद ने एक बार फिर अपनी योजनाओं में जमीन की कीमतें बढ़ायी है। इसके लिए गठित कमेटी की बैठक आवास विकास मुख्यालय में 13 जून को हुई। जिसमें जमीन की कीमतें बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी मिल गयी। प्रदेश की सभी योजनाओं में कीमतें नहीं बढ़ी हैं। केवल उन शहरों की योजनाओं में कीमतें बढ़ायी हैं जहां आवास विकास के पास जमीनें है। लखनऊ, गाजियाबाद, कानपुर, प्रयागराज तथा अयोध्या योजना में कीमतों में बढ़ोत्तरी हुई है। अयोध्या योजना में बहुत ही मामूली बढ़ोत्तरी बात कही गयी। लखनऊ की अवध विहार तथा वृन्दावन योजना में ही अधिकतम बढ़ोत्तरी हुई है। आवास विकास के वित्त नियंत्रक डॉ महेश चन्द्र पाण्डेय ने 13 जून को बैठक में जमीन की कीमतें बढ़ाने का प्रस्ताव रखा था। जिसे मंजूरी दे दी गयी।

फ्लैट की कीमतों में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई
आवास विकास ने केवल रिक्त भूखण्डों व जमीनों की कीमतों में बढ़ोत्तरी की है। फ्लैट की कीमतों में कोई बढ़ोत्तरी नहीं की गयी है। फ्लैटों में छूट दी जाएगी। पूर्व में फ्लैटों में जो छूट चल रही थी वह बरकरार रहेगी। रिक्त फ्लैटों की के लिए फिर से बुकिंग खोली जा रही है।

आचार संहिता की वजह से नहीं बढ़ पाईं थी कीमत
आवास विकास ने पहले अप्रैल में ही जमीन की कीमतें बढ़ाने की तैयारी की थी। लेकिन आचार संहिता लागू हो जाने की वजह से बढ़ोत्तरी नहीं हो पायी। बाद में आवास विकास के वित्त नियंत्रक डा. महेश चन्द्र पाण्डेय ने कीमतें बढ़ाने पर रोक लगायी थी। यह रोक आचार संहिता तक के लिए ही लगी थी।