DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › पुलिस की 200 गाड़ियों के काफिले के साथ डॉन मुख्तार अंसारी को लाया गया बांदा जेल
उत्तर प्रदेश

पुलिस की 200 गाड़ियों के काफिले के साथ डॉन मुख्तार अंसारी को लाया गया बांदा जेल

हिन्दुस्तान टीम , कानपुरPublished By: Shivendra Singh
Wed, 07 Apr 2021 05:52 AM
पुलिस की 200 गाड़ियों के काफिले के साथ डॉन मुख्तार अंसारी को लाया गया बांदा जेल

पिछले दो दशकों से पूर्वांचल की राजनीति में बाहुबली की पहचान के साथ खासा दखल रखने वाले बहुजन समाज पार्टी के विधायक मुख्तार अंसारी को पंजाब की रोपड़ जेल से बांदा जेल लाया गया। बुधवार सुबह तड़के 04:30 बजे पुलिस का काफिला मुख्तार अंसारी तो लेकर बांदा जेल पहुंचा। इस काफिले में करीब 200 गाड़ियां थी। पूरे रास्ते पुलिस की गाड़ियों ने चारों दिशाओं से मुख्तार की एंबुलेंस को घेर रखा था।

जेल के गेट नंबर 2 तक मुख्तार की एंबुलेंस के साथ चार गाड़ियां गईं, लेकिन मुख्तार को एंबुलेंस से उतारते ही दो गाड़ियां वापस कर दी गईं। अब जेल में डिप्टी एसपी के साथ मुख्तार की एंबुलेंस ही जेल के गेट नंबर 2 पर मौजूद है। कुल 16 घंटों में तीन बार रास्ता बदलते हुए लगभग 900 किलोमीटर का रास्ता तय कर मुख्तार को लेकर जेल पहुंचे पुलिस के काफिले ने कई आशंकाओं को शांत किया।

भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मुख्तार को लेकर यूपी पुलिस शाम करीब छह बजे यूपी की सीमा में प्रवेश कर गई। मुख्तार की एम्बुलेंस के आगे-पीछे और अगल-बगल पुलिस के वाहनों का काफिला चलता रहा।पुलिस के काफिले के पीछे मीडिया की गाड़ियां और सियासी बयानबाजियों के बीच लगातार कई संभावनाएं सामने आ रही थी। मुख्तार को लेकर पुलिस का काफिला पंजाब के बाद यमुना एक्सप्रेस वे और फिर इटावा के बाद कानपुर के पहले घाटमपुर के रास्ते बांदा पहुंचा।

हुत गोपनीय रखे गए मुख्तार के काफिले का रूट तीन बार बदला गया। पहले, इटावा के बाद कानपुर देहात के सिकंदरा से अचानक रूट बदल दिया गया। रात डेढ़ बजे सिकंदरा पहुंचे काफिले को अचानक भोगनीपुर की तरफ मोड़ दिया गया। सिकंदरा से काफिला राजपुर होते हुए भोगनीपुर और यहां से मूसानगर होते हुए घाटमपुर और फिर हमीरपुर पहुंचा। यहां से अचानक पुलिस की गाड़िया भरुआ सुमेरपुर की ओर मुड़ गईं। यह दूसरी बार था जब पुलिस का रूट बदल गया था।

हालांकि इससे पहले मुख्तार को भारी सुरक्षा के साथ लेकर चल रहा काफिला करीब डेढ़ बजे के आसपास कानपुर देहात के सट्टी थाने के पास करीब 15 मिनट के लिए रोका गया। गाड़ियों के रुकते ही काफिले के साथ चल रहे मीडियाकर्मी मुख्तार की एंबुलेस की तरफ दौड़ पड़े। इसको लेकर पुलिस और मीडियाकर्मियों में धक्का-मुक्की भी हुई। करीब 15 मिनट बाद काफिला कानपुर नगर के घाटमपुर की ओर निकला और वहां से हमीरपुर।

चेकअप करने के लिए जेल में मुस्तैद है चार डॉक्टरों की टीम
मुख्तार अंसारी बांदा के जेल पहुंचने से पहले सुरक्षा-व्यवस्था चाक-चौबंद कर दी गई। जेल के बाहर भी जवान मुस्तैद रहे। जेल में मुख्तार की सुरक्षा के साथ ही स्वास्थ्य का ध्यान रखने का भी पूरा इंतजाम किया गया। मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य के अनुसार मुख्तार का मेडिकल चेकअप करने के लिए चार डॉक्टरों की टीम जेल पहुंची थी। अधकारियों के मुताबिक, जेल के अंदर मुख्तार की एंबुलेस के साथ मात्र एक गाड़ी अंदर गई जबकि मीडिया और अन्य पुलिस के वाहन कुछ पहले रोक दिए गए।

संबंधित खबरें