ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशलखनऊ एयरपोर्ट पर घरेलू फ्लाइटों का संचालन आज से नए टर्मिनल-3 से, ऐसे जाएं

लखनऊ एयरपोर्ट पर घरेलू फ्लाइटों का संचालन आज से नए टर्मिनल-3 से, ऐसे जाएं

लखनऊ एयरपोर्ट पर घरेलू फ्लाइटों का संचालन आज से नए टर्मिनल-3 से होगा। पिछले महीने 2400 करोड़ की लागत से बनाए गए नए टर्मिनल का लोकार्पण किया गया था लेकिन फ्लाइटों का संचालन रविवार से होगा।

लखनऊ एयरपोर्ट पर घरेलू फ्लाइटों का संचालन आज से नए टर्मिनल-3 से, ऐसे जाएं
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,लखनऊSun, 21 Apr 2024 06:31 AM
ऐप पर पढ़ें

सभी घरेलू फ्लाइटों का संचालन रविवार से टर्मिनल-3 से होगा। घरेलू फ्लाइट के यात्रियों को नए टर्मिनल से आना जाना होगा। पिछले महीने 2400 करोड़ की लागत से बनाए गए नए टर्मिनल का लोकार्पण किया गया था लेकिन फ्लाइटों का संचालन रविवार से होगा।
सभी प्रमुख एयरलाइंस ने सोशल मीडिया पर अपने यात्रियों को रविवार से नए टर्मिनल-3 से जाने की सूचना दी है। इंडिगो ने इसके लिए एक वीडियो भी जारी किया है ताकि यात्रियों को आसानी हो। नए टर्मिनल में डिपार्चर यानी प्रस्थान और अराइवल यानी आगमन के लिए अलग रास्ते बनाए गए हैं। एयरपोर्ट प्रशासन के अनुसार अन्तरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए परिचालन फिलहाल पुराने टर्मिनल-1 से जारी रहेगा। टर्मिनल-3 के दूसरे चरण के निर्माण के दौरान पहले अन्तरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए इस नए टर्मिनल में व्यवस्था की जाएगी। इसके बाद पुराना टर्मिनल-3 ध्वस्त कर दिया जाएगा। लखनऊ से 100 से अधिक घरेलू उड़ानें हैं।      

प्रस्थान के लिए फ्लाईओवर से जाएं

यदि किसी उड़ान से जाना हो, यात्री को छोड़ने जा रहे हैं तो लक्ष्मण चौक के आगे फ्लाईओवर से जाना होगा। ऊपर प्रस्थान हॉल है जहां यात्री को छोड़ने के बाद आगे फ्लाईओवर से उतरते हुए वापस लक्ष्मण चौक की ओर आने वाली सड़क मिल जाएगी। 

आगमन के लिए नीचे से होगा रास्ता

यदि यात्री को लेने जा रहे हैं तो लक्ष्मण चौक के आगे फ्लाईओवर के बगल से सीधे जाना होगा। आगे जा कर बाएं फिर दाएं मुड़ते हुए नए टर्मिनल-3 के निचले हिस्से में पहुंचेंगे।                                   

रास्ता बताने के लिए तैनात किए गए सुरक्षा गार्ड

नए टर्मिनल तक पहुंचने में कोई दिक्कत न होने पाए, इसके लिए जगह-जगह सुरक्षा गार्ड तैनात किए गए हैं। साथ ही साइनेज भी लगाए गए हैं ताकि यात्रियों या उनको लेने-छोड़ने आने वालों को कोई दिक्कत न होने पाए।