DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी सरकार का बड़ा फैसला :अब डाक्टरों की बनेगी ई सर्विस बुक

doctor

स्वास्थ्य महकमें ने एक नई पहल शुरू की है। अब चिकित्सकों व फार्मासिस्टों की ई सर्विस बुक बनाई जाएगी। इसमें संविदा व नियमित दोनों प्रकार के चिकित्सक व फार्मासिस्ट शामिल होगें। मार्च माह तक ई सर्विस बुक तैयार करने की अंतिम तिथि होगी। इसके बाद ई सर्विस बुक न बने होने पर कर्मचारियों का वेतन जनरेट नहीं हो पाएगा।

अब तक नियमित रूप से कार्यरत चिकित्सकों व फार्मासिस्टों की ही सर्विस बुक बनाई जाती थी। यह सर्विस बुक कार्यालय में जमा रहती थी। इस बुक में कर्मचारियों की पूरी कुंडली होती थी। सेवा के दौरान होने वाली कार्रवाई भी सर्विस बुक पर इंट्री कर दी जाती थी। कुल मिलाकर सर्विस बुक में कर्मचारियों का पूरा डिटेल होता था लेकिन कई बार यह सर्विस बुक गायब हो जाती थी। जिसके कर्मचारी के सेवाकाल का रिकॉर्ड नहीं रह जाता था। इन्हीं सब बातों का ध्यान रखते हुए शासन ने ई सर्विस बुक बनवाने का निर्णय लिया है। शासन के विशेष सचिव नीरज शुक्ला ने सभी एडी व सीएमओ को ई सर्विस बुक तैयार कराने के निर्देश जारी किए हैं।

पहले चिकित्सकों की बनेगी ई सर्विस बुक : ई सर्विस बुक के लिए पहले चिकित्सकों की डाटा इंट्री पूर्ण की जाएगी। इसके बाद डेटा क्लीनिंग की कार्यवाही की जाएगी। चिकित्सकों के ई सर्विस बुक तैयार होने के बाद फार्मासिस्टों की बनाई जाएगी। शासन ने इसकी जिम्मेदारी यूपीटीएसयू की टीम को सौंपी है।

कैम्प लगाकर बनेगी सर्विस बुक : ई सर्विस बुक तैयार करने के लिए कैंप भी लगाए जाएंगे। प्रदेश के 19 जनपदों में इसी माह जनवरी में ही कैंप लगाए जा सकते हैं। इसके लिए जल्दी ही निर्देश जारी किए जाएंगे।

मार्च तक ना बनी सर्विस बुक तो माने जाएंगे अनुपस्थिति:
मार्च माह तक सर्विस बुक न तैयार हो पाई तो चिकित्सक अनुपस्थिति मान लिए जाएंगे। इसलिए उन्हें मार्च तक ई सर्विस बुक बनवाकर व स्वंय प्रमाणित कर सीएमओ व चिकित्साधिकारी कार्यालय में लोड कराना पड़ेगा। ऐसा न होने की स्थिति में उनका वेतन ही जनरेट नहीं हो पाएगा। अपर निदेशक डॉ सतीश कुमार ने बताया कि ई सर्विस बुक बनाने की कार्रवाई तेज कर दी गई है। तय समय सीमा के भीतर उसे पूरा करा लिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:doctors will now be e book service