DA Image
22 नवंबर, 2020|11:39|IST

अगली स्टोरी

यूट्रस का ऑपरेशन बीच में छोड़कर भागीं डॉक्टर, ओटी टेबल पर तड़पती रही मरीज

doctors left utras operation midway patient suffering on ot table kanpur

कानपुर में कल्याणपुर के काशी अस्पताल में सीएमओ की छापेमारी के चलते ऑपरेशन कर रही डॉक्टर मरीज को ओटी टेबल पर छोड़कर पीछे के रास्ते से निकल गई। मरीज अद्र्घबेहोशी की हालत में थी। ऑपरेशन में लगी दोनों डॉक्टरों में एक गायनी सर्जन तो दूसरी एनेस्थीसिया विशेषज्ञ थी। बाद में सीएमओ ने दोनों को बुलाकर कड़ी फटकार लगाई है। साथ ही लापरवाही पर एफआईआर दर्ज करने और एमसीआई को पत्र भेजने की बात कही है।

काशी अस्पताल कल्याणपुर में देर रात ओटी में एक महिला के यूट्रस का ऑपरेशन चल रहा था। सीएमओ की छापेमारी से अस्पताल में अफरातफरी मच गई। डॉक्टर बिना मरीज को पैक किए ओटी में छोड़कर चली गई। मरीज को कमर के नीचे बेहोशी भी दी गई थी।  सीएमओ ने ओटी खुलवाकर देखा तो एक पुरुष कर्मचारी था जो प्रशिक्षित भी नहीं था।  उसी ने जैसे तैसे र्पैंकग की थी। सीएमओ डॉ. अनिल कुमार मिश्र ने वहीं से डॉक्टर को फोन लगाया तो डॉक्टर ने बताया कि वह स्वरूप नगर पहुंच गई हैं। इस पर सीएमओ ने कड़ी नाराजगी जताते हुए पुलिस भेजने की बात की तो वह अस्पताल पहुंची। और मरीज को संभाला। सीएमओ डॉ. अनिल कुमार मिश्र के मुताबिक मरीज को ब्र्लींडग हो सकती थी। उसकी जान को पूरा खतरा है। मरीज को बगैर स्टेबिल किए वह कैसे चली गईं।. रुचि राठौर अस्पताल में ऑपरेशन कर रही थीं। एनेस्थीसिया विशेषज्ञ  भी थीं। इस तरह लापरवाही से मरीज की जान जा सकती है। इस पर डॉक्टर रुचि राठौर को हिदायत दी गई है कि अगर मरीज को कुछ हो गया तो उन पर एफआईआर दर्ज कराएंगे। वैसे भी इस लापरवाही पर डीएम की अनुमति से कार्रवाई करेंगे। एमसीआई को भी पत्र भेजा जा रहा है ताकि इस तरह की प्रैक्टिस पर रोक लगे। सीएमओ के मुताबिक तीन अन्य मरीज ऑपरेशन करान वाली भर्ती हैं। अस्पताल में न तो स्टाफ नर्स हैं और नही प्रशिक्षित स्टाफ है। संचालक उमाशंकर से पूछा गया तो हाल ही रजिस्ट्रेशन कराने की बात सामने आई है जबकि अस्पताल कई वर्षों से चल रहा था।

रजिस्टे्रशन रद कराने की तैयारी

अस्पताल में बुखार और ऑपरेशन के मरीज साथ साथ भर्ती हैं। बुखार में मरीजों की किट से डेंगू की जांच की गई है वह पॉजिटिव बताकर इलाज कर रहे थे। जबकि एलाइजा जांच होनी चाहिए और सीएमओ कार्यालय पर इसकी सूचना होनी चाहिए। सीएमओ का कहना है कि अस्पताल में अव्यवस्था है कोई र्होंल्डग एरिया नहीं है। किसी की जांच नहीं हो रही है। इस तरह अस्पताल को नोटिस दिया गया है रजिस्ट्रेशन रद करने की कार्रवाई की जा रही है।

बाबू को हटाया गया

सीएमओ ने नर्सिंग होमों के र्डींलग बाबू को उसके पटल से हटा दिया है। उस पर नर्सिंग होमों के रजिस्ट्रेशन में गम्भीर अनियमितता के आरोप हैं। सीएमओं के मुताबिक  हाल में ही नर्सिंग होमों का नोडल बनाई गई एसीएमओ को कोरोना हो गया है। वह अवकाश पर हैं। इसलिए एसीएमओ डॉ. एपी मिश्र को नर्सिंग होमों का काम देखने को कहा गया है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Doctors left Utras operation midway patient suffering on OT table kanpur