ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशकानपुर में देर रात उन्नाव के विधायक एवं पूर्व मंत्री के डॉक्टर नाती की हत्या, दोस्त गिरफ्तार

कानपुर में देर रात उन्नाव के विधायक एवं पूर्व मंत्री के डॉक्टर नाती की हत्या, दोस्त गिरफ्तार

उन्नाव निवासी डेंटल सर्जन डॉ गौरव प्रताप सिंह की महाराजपुर में निर्मम हत्या कर दी गई। इस मामले में पुलिस ने उसके एयरफोर्स में सार्जेंट मित्र मुदित श्रीवास्तव को गिरफ्तार कर लिया है।

कानपुर में देर रात उन्नाव के विधायक एवं पूर्व मंत्री के डॉक्टर नाती की हत्या, दोस्त गिरफ्तार
Rishiकानपुर। प्रमुख संवाददाताWed, 15 Mar 2023 02:52 AM
ऐप पर पढ़ें

उन्नाव निवासी डेंटल सर्जन डॉ गौरव प्रताप सिंह की महाराजपुर में निर्मम हत्या कर दी गई। इस मामले में पुलिस ने उसके एयरफोर्स में सार्जेंट मित्र मुदित श्रीवास्तव को गिरफ्तार कर लिया है। डॉ गौरव के नाना डॉ गंगाबख्श सिंह उन्नाव की हड़हा सीट से कई बार विधायक और उप्र सरकार में राज्यमंत्री रहे। डॉ गौरव की मां डॉ आशा सिंह उनकी पुत्री हैं।
पुलिस ने पांच घंटे में किया खुलासा
चकेरी और महाराजपुर की पुलिस ने पांच घंटे में हत्याकांड का खुलासा कर दिया। पुलिस के मुताबिक डॉ. गौरव मां-बाप का इकलौता बेटा था। उसकी पत्नी से दोस्त के साथ अवैध संबंधों के चलते हत्या को अंजाम दिया गया। देर रात तक पुलिस आरोपित मुदित से पूछताछ कर हत्या में प्रयुक्त हथियार बरामद करने के प्रयास में लगी है। 
मंगलवार को दर्ज कराई गुमशुदगी
उन्नाव के सी-46 आवास विकास कॉलोनी निवासी डॉ. गौरव की पत्नी प्रियंका सिंह ने बताया कि गौरव उन्हें लेकर 13 मार्च की शाम राजीव विहार नौबस्ता ससुराल आए थे। वहां से अहिरवां में रहने वाले दोस्त मुदित के घर चले गए। रात नौ बजे मुदित ने उन्हें अहिरवां चौकी के पास छोड़ दिया। गौरव को बस से उन्नाव जाना था, मगर वह घर नहीं पहुंचे। जिस पर मुदित, प्रियंका और उसकी मां ने मंगलवार शाम को चकेरी थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई।
शराब पिलाकर मार डाला
एसीपी चकेरी अमरनाथ ने बताया कि डॉक्टर को मुदित पहले अहिरवां अपने सरकारी आवास पर ले गया। वहां शराब पिलाई फिर दोनों ने चकेरी में शराब पी। इसके बाद एसीपी चकेरी के ऑफिस के सामने सड़क की दूसरी तरफ 200 मीटर की दूरी पर डॉक्टर की हत्या कर दी। प्रथम दृष्टया सीने और सिर पर गोली मारने के अलावा भारी वस्तु से वार की आशंका जताई गई है। सार्जेंट ने डॉक्टर के शव को वहीं खंदक में फेंक दिया था।
बयान में विरोधाभास और हो गया खुलासा
एसीपी चकेरी ने बताया कि प्रियंका सिंह और सार्जेंट से पूछताछ में उनके बयान विरोधाभास मिले। उसके बाद सार्जेट को अलग रखकर पूछताछ की गई। थोड़ी सी सख्ती से पूछताछ करने पर वह टूट गया और हत्या की घटना कबूल कर ली। उसने देर रात पुलिस को शव भी बरामद करा दिया।
शक था डाक्टर मार डालेगा
एसीपी ने बताया कि मुदित ने पूछताछ में जानकारी दी कि उसके और प्रियंका के बीच अवैध संबंध थे। मुदित को शक हो गया था कि गौरव को इसकी जानकारी हो गई है और वह उसे मार डालेगा। उससे पहले उसने गौरव को ही मौत के घाट उतार दिया। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें