ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशनेपालगंज से दिल्ली-लखनऊ के लिए सीधी रोडवेज बसें, सरहद पार आसान होगी यात्रा

नेपालगंज से दिल्ली-लखनऊ के लिए सीधी रोडवेज बसें, सरहद पार आसान होगी यात्रा

पालगंज से दिल्ली-लखनऊ के लिए सीधी रोडवेज बसें चलेंगी। अब दिल्ली व लखनऊ से सीधे परिवहन निगम की बसें सरहद पार नेपालगंज तक फर्राटा भरेंगी। सरहद पार यात्रा आसान होगी।

नेपालगंज से दिल्ली-लखनऊ के लिए सीधी रोडवेज बसें, सरहद पार आसान होगी यात्रा
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,लखनऊSat, 24 Feb 2024 10:24 AM
ऐप पर पढ़ें

भारत-नेपाल के बीच कनेक्विटी को बेहतर करने के लिए एक और बढ़ा कदम उठाया गया है। अब दिल्ली व लखनऊ से सीधे परिवहन निगम की बसें सरहद पार नेपालगंज तक फर्राटा भरेंगी। गुरुवार को रुपईडीहा डिपो से बसों के संचालन की शुरुआत कर दी गई। नेपाल से हर क्षेत्र में रिश्तों को प्रगाढ़ करने के लिए केंद्र व राज्य सरकार की ओर से कदम उठाए जा रहे हैं। अब बड़े पैमाने पर भारत आने वाले कामगारों को सहूलित पहुंचाने के लिए नेपालगंज तक परिवहन निगम की बसों के संचालन का फैसला किया गया है। 10 बसों की परमिट दोनों देशों के आम सहमति पर जारी किया गया है। इसके तहत देश की दिल्ली व लखनऊ तक सीधे बस सेवा को नेपालगंज से जोड़ा गया है।

 सीधी बस सेवा संचालन से नेपाली नागरिकों को दौड़भाग से राहत मिलेगी। गुरुवार को नानपारा के विधायक राम निवास वर्मा, नगर पंचायत रुपईडीहा के चेयरमैन डॉ. उमाशंकर वैश्य व ब्लॉक प्रमुख जयप्रकाश सिंह ने संयुक्त रूप से बसों को हरी झंडी दिखाकर बार्डर पार नेपालगंज के लिए रवाना किया।

नेपालगंज के लिए 15 बसों को मिली परमिट
समझौते के आधार पर परिवहन निगम को 15 बसों के नेपालगंज तक संचालन के लिए परमिट जारी किया गया। नई बसों के न आने तक विभिन्न डिपो से आने वाली बसों को ही नेपालगंज तक भेजा जाएगा। हालांकि शुरुआत में 10 बसों का संचालन शुरू किया गया है। 

अयोध्या व वाराणसी तक की सुविधा
अयोध्या में दिव्य व भव्य राममंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के बाद वहां दर्शन के लिए भारी संख्या में नेपाल के भी रामभक्त पहुंच रहे हैं। इसको देखते हुए रुपईडीहा से वाराणसी के लिए तीन अतिरिक्त रोडवेज बसों का संचालन शुरू किया गया है, जो अयोध्या होकर वाराणसी तक जाएंगी। रुपईडीहा एआरएम राम प्रसाद ने बताया कि दोनों देशों के समझौते के आधार पर 15 बसों की परमिट जारी हुई है। 10 बसों का संचालन नेपालगंज से शुरू हो गया है। इससे दोनों देशों के नागरिकों को सुविधा मिलेगी।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें