ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशसवा लाख डीएल की डिलीवरी फंसी, संकट में ड्राइविंग लाइसेंस के आवेदक

सवा लाख डीएल की डिलीवरी फंसी, संकट में ड्राइविंग लाइसेंस के आवेदक

यूपी में ड्राइविंग लाइसेंस के आवेदक संकट में हैं। सवा लाख से ज्यादा ड्राइविंग लाइसेंस केएमएस यानी की मैनेजमेंट सिस्टम के पेंच में फंस गया है।

सवा लाख डीएल की डिलीवरी फंसी, संकट में ड्राइविंग लाइसेंस के आवेदक
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,लखनऊSun, 23 Jun 2024 09:15 AM
ऐप पर पढ़ें

स्मार्ट कार्ड में जारी होने वाले ड्राइविंग लाइसेंस की व्यवस्था पटरी से उतर गई है। सवा लाख से ज्यादा ड्राइविंग लाइसेंस केएमएस यानी की मैनेजमेंट सिस्टम के पेंच में फंस गया है। बीते 15 दिनों से परिवहन विभाग मुख्यालय पर डीएल प्रिंट होने के बाद भी केएमएस नहीं होने से डीएल की डाक से डिलेवरी रोक दी गई है। आलम यह है कि एनआईसी के साफ्टवेयर में गड़बड़ी ठीक नहीं होने से डीएल आवेदक दर-दर भटकने को मजबूर है। इनमें सबसे ज्यादा उन डीएल आवेदकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, जो ड्राइविंग लाइसेंस के भरोसे ड्राइवर की नौकरी करके घर का खर्चा चला रहे है। ऐसे आवेदकों ने सीएम पोर्टल पर अपनी शिकायतें रोज दर्ज करा रहे है। बावजूद स्थिति में कोई सुधार होता नजर नहीं आ रहा है। 

साफ्टवेयर अपग्र्रेड के बाद गड़बड़ी शुरू

परिवहन विभाग से जुड़े साफ्टवेयर को एनआईसी अपग्रेड करने के लिए बीते दो व तीन जून को डीएल संबंधी आवेदन पर रोक लगा दी थी। चार जून से अपग्रेड साफ्टवेयर के जरिए डीएल का केएमएस होता रहा। इस बीच अपग्रेड के पहले पेंडिंग पड़े डीएल को जब केएमएस करने का सिलसिला शुरू हुआ तो पहले की तरह डाटा मिस्मैच होने के साथ ईरर आने लगा। ऐसे में 31 मई के पहले प्रिंट हुए सभी एक लाख 28 हजार के करीब डीएल की पेंडेंसी हो गई। 

क्या होता है केएमएस
परिवहन विभाग के साफ्टवेयर में केएमएस यानी की मैनेजमेंट सिस्टम होता है। इस सिस्टम पर ड्राइविंग लाइसेंस में लगे चिप का ब्यौरा दर्ज किया जाता है।  ब्यौरा दर्ज होते ही विभाग के वाहन फोर साफ्टवेयर डीएल संबंधी सभी सूचना एक क्लिक पर उपलब्ध हो जाती है। साथ ही ई चालान करने में आसानी होती है। इसके पूर्व में चिप संकट के चलते करीब ढाई लाख डीएल डंप हो गए थे। 

इन समस्याओं से जूझ रहे डीएल आवेदक

-बगैर डीएल ड्राइवर की नौकरी खोने की चिंता
-वाहन चालकों को बिना डीएल चालान का डर 
-चालक भर्ती में हिस्सा नहीं लेने की सता रही चिंता 
-डीएल नहीं होने से वाहनों पर ड्यूटी मिलना भी बंद  
-बिना डीएल खाड़ी देश जाने वाले ड्राइवर परेशान 
-डीएल बिना हादसे का बीमा क्लेम लेने में दिक्कत
-टूर एंड ट्रैवेल के टैक्सी ड्राइवरों की परेशानी बढ़ी
-बिना डीएल गैर राज्यों की वाहन बुकिंग लेना बंद