DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली-वाराणसी की दूरी होगी सिर्फ आठ घंटे की, जंक्शन पर ट्रेन का ठहराव होना तय

नयी दिल्ली से वाराणसी के बीच ट्रेन-18 चलाने की कवायद शुरू हो गयी है। इस सेमी हाईस्पीड ट्रेन के लिए कमिश्नर रेलवे सेफ्टी (सीआरएस) से अनुमति मांगी गयी है। उत्तर मध्य रेलवे ने इस बाबत पत्र भेजा है और जो भी शंकाएं हैं उनका निवारण किया जा रहा है। अगर सुरक्षा संबंधी अनुमति मिल जाती है तो उम्मीद है कि पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिवस 25 दिसंबर से इसका परिचालन शुरू होगा। 

एनसीआर ट्रेन-18 को प्रयाग व फूलपुर के रास्ते चलाने की तैयारी में है। वाराणसी का यही रूट इलेक्ट्रिक इंजन के लिए मुफीद है। मिली जानकारी के अनुसार नयी ट्रेन सुबह 6.30 बजे नयी दिल्ली से रवाना होगी और आठ घंटे में वाराणसी पहुंचेगी। इलाहाबाद जंक्शन व कानपुर में इसका ठहराव होगा। प्रयागराज के लोगों के लिए यह ट्रेन शताब्दी की तरह होगी। ट्रेन-18 का ट्रायल 180 किमी. प्रति घंटा की रफ्तार से किया जा रहा लेकिन इलाहाबाद मंडल में यह ट्रेन अधिकतम स्वीकृत रफ्तार 130 किमी से ही चल सकेगी। राजधानी ट्रेनों के लिए यही अधिकतम स्पीड तय है।

16 कोच की होगी ट्रेन : सेमी हाईस्पीड ट्रेन 16 कोच की होगी। इसमें दो कोच 52 सीटों वाले एक्जिक्यूटिव क्लास के होंगे। बाकी 14 कोच 78 सीटों वाले होंगे। ट्रेन में वाईफाई, जीपीएस आधारित यात्री सूचना प्रणाली समेत अत्याधुनिक सुविधाएं होंगी। .

नए बने प्लेटफॉर्म को अब छह नंबर बनाने का फैसला हुआ है। डीआरएम अमिताभ ने बताया कि नए प्लेटफॉर्म को छह नंबर नाम दिया जाएगा। मौजूदा छह नंबर प्लेटफॉर्म को पांच नंबर कर दिया जाएगा। इससे प्लेटफॉर्म चार, पांच और छह को लेकर होने वाला भ्रम दूर हो जाएगा। नए प्लेटफॉर्म से 31 से पहले परिचालन शुरू होगा।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Delhi-Varansi distance will be reduced by eight hours