ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशदारुल उलूम: मजलिस-ए-शुरा की बैठक का आगाज, गजवा-ए-हिंद पर चर्चा की संभावना

दारुल उलूम: मजलिस-ए-शुरा की बैठक का आगाज, गजवा-ए-हिंद पर चर्चा की संभावना

दारुल उलूम में मजलिस-ए-शुरा की बैठक का आगाज बुधवार को हो गया। तीन दिनों तक चलने वाली इस बैठक के पहले दिन विभिन्न विभागों के अध्यक्षों ने अपनी-अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत की।

दारुल उलूम: मजलिस-ए-शुरा की बैठक का आगाज, गजवा-ए-हिंद पर चर्चा की संभावना
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,देवबंदWed, 28 Feb 2024 10:20 PM
ऐप पर पढ़ें

दारुल उलूम में मजलिस-ए-शुरा (कार्यकारिणी सभा) की बैठक का बुधवार को आगाज हुआ। तीन दिनों तक चलने वाली इस बैठक के पहले दिन विभिन्न विभागों के अध्यक्षों ने अपनी-अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत की। बैठक में देशभर से 15 सदस्यों ने हिस्सेदारी की। दारुल उलूम के गेस्ट हाउस में आयोजित मजलिस-ए-शुरा की तीन दिवसीय बैठक में पहले दिन संस्था के विभिन्न विभागों के प्रभारियों ने अपने विभागों से संबंधित रिपोर्ट पेश करना प्रारंभ किया है। बैठक में संस्था की शुरा द्वारा महत्वपूर्ण निर्णय लिए जाएंगे। नाजिम-ए-तालिमात (शिक्षा विभाग के प्रभारी) मौलाना हुसैन हरद्वारी, निर्माण विभाग के प्रभारी एवं नायब मोहतमिम मौलाना खालिक मद्रासी, वित्तिय विभाग के प्रभारी नय्यर उस्मानी, तंजीम-ओ-तरक्की विभाग के प्रभारी मौलाना राशिद सहित अन्य विभाग के प्रभारियों द्वारा अपने विभागों की रिपोर्ट शुरा सदस्यों के समक्ष पेश की गई। बैठक में लिये जाने वाले निर्णयों पर देवबंद समेत देश भर की निगाहें टिकी है। 

मिलेंगे नए कर्मचारी, पदोन्नति संग बढ़ेगा वेतन 

बैठक में कई अहम फैसले लिए जाएंगे। नए कर्मचारियों की नियुक्ति, उनके पदोन्नति एवं बढ़ती महंगाई के चलते वेतन में वृद्धि सहित विभिन्न जलवंत मुद्दों पर विचार विमर्श किया जाएगा। 

गजवा ए हिंद व शरीयत मामलों में गलत व्याख्या पर भी चर्चा 

शुरा की बैठक में राष्ट्रीय बाल सुरक्षा अधिकार (एनसीपीसीआर) द्वारा गजवा-ए-हिंद को लेकर दिए गए नोटिस पर भी चर्चा होने की संभावना है। संस्था के तलबा द्वारा प्राइवेट अंग्रेजी कोचिंग सहित विभिन्न मुद्दों पर उठाए जा रहे सवालों पर भी चर्चा की जाएगी। संभावना यह भी जताई जा रही है कि शरीयत के मामलों पर लगातार सवाल उठाए जाने एवं गलत व्याख्या करने पर कठोर निर्णय लिया जाएगा। 

पहले दिन यह रहे शामिल 

शूरा की बैठक में पहले दिन दारुल उलूम मोहतमिम मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी, सदर मुदर्रिस (प्राचार्य) मौलाना अरशद मदनी, मौलाना महमूद मदनी, मौलाना अनवार उर-रहमान, सांसद मौलाना बदरुउद्दीन अजमल, मुफ्ती शफीक (बैंगलुरु), मौलाना आकिल, मौलाना रहमतुल्ला (कश्मीर), हकीम कलीम उल्लाह(अलीगढ़), मौलाना इब्राहिम (मद्रास), मौलाना सय्यद हबीब (बांदा), मौलाना अब्दुल अलीम फारुकी (लखनऊ) और मौलाना महमूद (राजस्थान) मौजूद रहे। 

दारुल उलूम के तंजीम ओ तरक्की विभाग के उप प्रभारी अशरफ उस्मानी ने बताया कि संस्था की तीन दिवसीय मजलिस ए शुरा की बैठक का बुधवार को पहला दिन था, जिसमें देशभर से आए शुरा के सदस्यों ने भाग लिया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें