DA Image
29 नवंबर, 2020|6:56|IST

अगली स्टोरी

आज़मगढ़: पूर्व डीआईजी के भाई की हत्या में शामिल डेढ़ लाख का इनामी ढेर

उत्तर प्रदेश के अम्बेडकरनगर जिले में आतंक का प्रयाय बना डेढ़ लाख का इनामी बदमाश लक्ष्मण यादव एसटीएफ और पुलिस की मुठभेड़ में ढ़ेर हो गया।

up police jpg

अंबेडकरनगर जिले के साथ-साथ पूरे पूर्वांचल में अपनी आपराधिक गतिविधियों के चलते आतंक का पर्याय बना डेढ़ लाख का इनामी बदमाश लक्ष्मण यादव गुरुवार को सुबह लगभग साढ़े छह  बजे एसटीएफ और पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में ढ़ेर हो गया। जिले की सीमा से सटे  महराजगंज थाना क्षेत्र में करीब घंटे भर हुई मुठभेड़ में मारे गए शातिर अपराधी लक्ष्मण यादव का लंबा चौड़ा आपराधिक इतिहास है। जिले के राजेसुल्तानपुर थाना क्षेत्र में पिछले माह ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर एक व्यक्ति को मौत के घाट उतार दिया था। जबकि एक युवक गंभीर रूप से घायल हुआ था। सनसनीखेज वारदात के बाद उसका ऊपर डेढ़ लाख का इनाम घोषित किया गया था।  आतंक का प्रयाय बना लक्ष्मण यादव के मारे जाने से जिले के लोगों ने भी राहत की सांस ली है।

Red Also: बेटे ने फांसी लगाकर की आत्महत्या तो आहत पिता ने ट्रेन से कटकर दी जान

महाराजगंज थाना क्षेत्र के बनकटा नेहरुपुर गांव के समीप पानी से भरे धान के खेत में पुलिस और बदमाशों के बीच गुरुवार की सुबह मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में बाइक सवार एक बदमाश पुलिस की गोली से ढेर हो गया। जबकि दूसरा बदमाश पुलिस पर फायर करते हुए बाइक समेत मौके से भागने में सफल हो गया। मुठभेड़ में मृत बदमाश की पहचान डेढ़ लाख रुपये के इनामी अपराधी लक्ष्मण यादव पुत्र स्वर्गीय राम दरश यादव महाराजगंज थाना क्षेत्र के देवारा गांव निवासी के रूप में हुई। इस मुठभेड़ में बदमाशों की गोली से स्वाट टीम के हेड कांस्टेबल सुरेंद्र यादव भी घायल हो गए। जबकि एसपी ग्रामीण एनपी सिंह समेत अन्य पुलिसकर्मियों के बुलेट प्रूफ जैकेट पर गोली लगी, जिससे वे बाल-बाल बच गए। 

मुठभेड़ में मारे गए बदमाश के पास से .32 एमएम का पिस्टल, हेलमेट, चप्पल बरामद हुआ। उसके ऊपर आजमगढ़ समेत पूर्वांचल के विभिन्न जनपदों में 42 से अधिक मुकदमें दर्ज हैं। लक्ष्मण यादव ने बीते 10 सितंबर को जिले के  राजेसुल्तानपुर थाना क्षेत्र के चोरमरा कमालपुर गाँव निवासी पूर्व डीआईजी जेपी सिंह के भतीजे बैंक कर्मी रविन्द्र प्रताप सिंह को सुबह लगभग साढ़े पांच बजे बजे बाइक सवार दो बदमाशों ने गोली मार दी थी। बैंककर्मी रविन्द्र प्रताप सिंह ने इलाज के दौरान आजमगढ़ के एक निजी अस्पताल में दम तोड़ दिया था। बदमाशों ने बैंक कर्मी को गोली मारने के बाद पदुमपुर कस्बे में निजी क्लिनिक चलाने वाले डॉक्टर लक्ष्मीकांत यादव को भी गोली मार दी थी ।

 

पाइए देश-दुनिया की हर खबर सबसे पहले www.livehindustan.com पर। लाइव हिन्दुस्तान से हिंदी समाचार अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करें हमारा News App और रहें हर खबर से अपडेट। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Criminal Laxman Yadav shot dead in encounter with Uttar Pradesh STF in Ambedkaranagar Districs