DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रेमिका से मिलने गए युवक को ग्रामीणों ने पहुंचाया थाने, कोतवाली के सामने मंदिर में हुई शादी

लखनऊ के मलिहाबाद में एक विवाह ऐसा भी हुआ, जिसकी चर्चा दूर-दूर तक फैल गई। युवती से चोरी छिपे मिलने पहुंचे प्रेमी को ग्रामीणों ने पकड़ लिया। उसके बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया लेकिन उसकी प्रेमिका रात में ही थाने पहुंच गई। युवती की जिद पर पुलिस और परिवार को झुकना पड़ा। लिहाजा पंचायत ने शनिवार को दोनों को शादी के बंधन में बांध दिया। बात करीब तीन साल पुरानी है। मलिहाबाद के बडीगढ़ी गांव के वीरेंद्र रावत और हसनापुर गांव की रौशनी की मुलाकात एक कार्यक्रम में हुई थी। उनके बीच प्रेम बढ़ने लगा। दोनों लोग छिप-छिपकर मिलते रहे। शुक्रवार रात वीरेंद्र रोशनी से मिलने के लिए उसके गांव पहुंचा। ग्रामीणों ने उसे पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। प्रेमी को पुलिस की गिरफ्त में सुनकर रोशनी नंगे पैर मलिहाबाद कोतवाली पहुंच गई। 

कोतवाली के सामने मंदिर में हुआ विवाह

प्रेमी को देखते ही वह उसे छोड़ने के लिए जिद करने लगी। पुलिस ने उसे समझाने का प्रयास किया लेकिन वह नहीं मानी। उसने पुलिस से साफ लफ्जों में कह दिया कि वह वीरेंद्र से ही शादी करेगी। यह बात वीरेंद्र ने भी कबूल की। उनके प्रेम के आगे पुलिस और परिवार को झुकना पड़ा। पुलिस ने 10 रुपये के स्टाम्प पेपर पर हस्ताक्षर कराए। फिर कोतवाली के सामने मंदिर में भगवान शिव को साक्षी मानकर वीरेंद्र ने रोशनी की मांग में सिंदूर भरकर साथ जीने-मरने की कसम खाई। 

बाइक पर ले गया दुल्हन

इटावा के पुजारी सुदामा गिरी ने विधि विधान से दोनों का विवाह सम्पन्न कराया। उन्हें आशीर्वाद दिया। इस विवाह में गांव वाले और पुलिस कर्मी मौजूद रहे। विवाह के बाद लोगों ने वर-वधू पर फूलों की बारिश कर दी। इसके बाद दूल्हे की बाइक को फूलों से सजाया गया। वीरेंद्र अपनी दुल्हन को बाइक पर बैठाकर घर ले गया। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:couple got married in temple opposite to police station after the youth was taken there by the villagers