DA Image
Tuesday, November 30, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशरिपोर्ट में हुआ चौंकाने वाला खुलासा, यूपी में वायरस के इस वेरिएंट ने मचाया था मौत का तांडव, 92 फीसदी नमूनों में पुष्टि

रिपोर्ट में हुआ चौंकाने वाला खुलासा, यूपी में वायरस के इस वेरिएंट ने मचाया था मौत का तांडव, 92 फीसदी नमूनों में पुष्टि

प्रमुख संवाददाता,लखनऊSneha Baluni
Tue, 29 Jun 2021 05:23 AM
रिपोर्ट में हुआ चौंकाने वाला खुलासा, यूपी में वायरस के इस वेरिएंट ने मचाया था मौत का तांडव, 92 फीसदी नमूनों में पुष्टि

अप्रैल-मई में हजारों लोगों के प्राण लेकर कोहराम मचाने वाला वेरिएंट डेल्टा वायरस था। दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार माने जा रहे इस डेल्टा वायरस ने यूपी में भी हजारों लोगों की जान ले ली। यह खुलासा प्रदेश के 355 सैंपल की जीनोम सिक्वेंसिंग की रिपोर्ट से हुआ है।

355 सैंपल में से 327 यानी 92 प्रतिशत सैंपल में डेल्टा प्लस वायरस पाया गया। हालांकि अभी एक हजार सैंपल के नतीजे आने बाकी हैं। दूसरी लहर में मिले डेल्टा वेरिएंट ने कोरोना की पहली लहर में पाए गए अल्फा वेरिएंट के मुकाबले काफी तेजी से संक्रमण फैलाया।

दो मास्क लगाने की सलाह
अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बड़ी संख्या में लोगों में पाए गए डेल्टा वेरिएंट को देखते हुए लोगों को सलाह दी है कि वह दो मास्क जरूर लगाएं और दो गज की शारीरिक दूरी के नियम का सख्ती से पालन करें, ताकि तीसरी लहर से बचा जा सके। 

द इंडियन सार्स कोविड-2 जीनोमिक कंसोर्टियम (आइएनएसएसीओजी) द्वारा जीनोम सिक्वेंसिंग से संबंधित यह रिपोर्ट जारी की गई है। उधर 327 में से सिर्फ 28 सैंपल की जीनोम सिक्वेंसिंग में अल्फा वेरिएंट पाया गया। डेल्टा वेरिएंट के कारण ही यूपी में कोरोना रोगियों के फेफड़ों पर ज्यादा खराब असर डाला और लोगों की प्रतिरोधक क्षमता को भी प्रभावित किया। 

अल्फा वेरिएंट से एक व्यक्ति जितने लोगों को संक्रमित कर रहा था, उससे कहीं ज्यादा डेल्टा वेरिएंट से हुआ। यही कारण है कि दूसरी लहर में प्रदेश में बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो गए। फिलहाल अब डेल्टा प्लस वेरिएंट से बचने के लिए हमें दूसरी लहर से सबक लेना होगा।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें