ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशकोराेना वैक्सीनेशन : यूपी में हेल्थ वर्कर्स लिस्ट में मृत नर्स और रिटायर्ड डॉक्टरों के भी नाम, जांच के आदेश

कोराेना वैक्सीनेशन : यूपी में हेल्थ वर्कर्स लिस्ट में मृत नर्स और रिटायर्ड डॉक्टरों के भी नाम, जांच के आदेश

देशभर के साथ यूपी में भी 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीनेशन शुरू हो रहा है। पहले चरण में हेल्थ वर्कस को वैक्सीन लगेगी। इसका दाे बार इसका ड्राई रन भी कर लिया गया है। इस बीच अयोध्या...

कोराेना वैक्सीनेशन : यूपी में हेल्थ वर्कर्स लिस्ट में मृत नर्स और रिटायर्ड डॉक्टरों के भी नाम, जांच के आदेश
वरिष्ठ संवाददाता ,अयोध्या Wed, 13 Jan 2021 11:00 AM
ऐप पर पढ़ें

देशभर के साथ यूपी में भी 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीनेशन शुरू हो रहा है। पहले चरण में हेल्थ वर्कस को वैक्सीन लगेगी। इसका दाे बार इसका ड्राई रन भी कर लिया गया है। इस बीच अयोध्या में हेल्थ वर्कस के लिए बनी लिस्ट में बड़ी गड़बड़ी सामने आई है। इसमें मृत नर्स, रिटायर्ड नर्स तथा संविदा समाप्त होने वाले डॉक्टरों का नाम भी शामिल है। इस बात का खुलासा होते ही स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जय प्रताप सिंह ने जांच के आदेश दे दिए। उन्होंने कहा कि लिस्ट तैयार करने में जिसने भी लापरवाही की है उस पर कार्रवाई की जाएगी।  

क्या है टीकाकरण की गाइडलाइन्स :

प्रथम चरण : हेल्थ वर्कर का टीकाकरण होगा
दूसरा चरण : फ्रंटलाइन वर्कर का टीकाकरण होगा
तीसरा चरण: 50 साल से ऊपर या फिर जिन्हें कैंसर, फेफड़े, दिल, मुधमेह समेत दूसरी गंभीर बीमारी है।

प्रदेश में आठ स्थानों पर रखी जाएगी, वहां से पीएचसी व सीएचसी भेजेंगे
प्रदेश में कोरोना वैक्सीन लगाने के लिए पहली खेम मंगलवार को शाम चार बजे लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर पहुंची। चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री जय प्रकाश सिंह और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने एयरपोर्ट पहुंच कर वैक्सीन से भरे वाहनों को रिसीव किया और बाद में हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। प्रदेश में 16 जनवरी से कोविड वैक्सीन को तय किए गए समूहों को लगाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। वैक्सीन को प्रदेश के आठ स्थानों पर स्टोर कर संबंधित सीएचसी और पीएचसी में भेजा जाएगा। वैक्सीन स्टाक के लिए 1298 केन्द्र बनाए गए हैं।

प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया है कि भारत सरकार की गाइडलाइन के अनुसार ही कोविड वैक्सीनेशन का काम होगा। का कार्य संचालित किया जायेगा। इसमें किसी भी प्रकार का कोई भी बदलाव नहीं किया जाएगा। वैक्सीन लक्षित समूहों को लगाने की कार्यवाही करते हुए, प्रथम चक्र में स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगायी जाएगी। प्रथम चरण में स्वास्थ्य कर्मियों, इसके बाद फ्रंट लाइन कर्मियों और उसके बाद 50 वर्ष से अधिक आयु वाले एवं 50 वर्ष से कम आयु वाले जो किसी गम्भीर बीमारी से ग्रस्त हैं, उनको वैक्सीन लगायी जाएगी।