DA Image
12 जुलाई, 2020|1:27|IST

अगली स्टोरी

कोरोना लॉकडाउन पलायन : कानपुर देहात में स्कूल व पंचायत घर बने क्वारंटाइन होम

दूसरे राज्यों से जिले में आ चुके सैकड़ों लोगों पर सख्ती शुरू हो गई है। प्रशासन ने गांवों के स्कूल और पंचायत घरों को क्वारन्टीन होम में बदल दिया है। इसके साथ ही इनकी पहचान के लिए लाल पट्टी बांधने का काम शुरू कर दिया गया हैं।

दिल्ली सहित दूसरे प्रदेशों में काम कर रहे लोग लॉक डाउन होते ही पाबंदी तोड़कर अपने घरों की ओर निकल पड़े। इनके लिए शनिवार को सरकार ने कई स्थानों पर बसों का इंतजाम भी किया था। रविवार को जिले में ही इनकी संख्या हजारों में पहुंच गई। इधर कई दिनों से वापस लौट रहे लोग गांव पहुंच कर भी होम क्वारन्टीन का पालन नहीं कर रहे थे।

रविवार को प्रशासन ने इस पर काम शुरू कर दिया। गांवों के परिषदीय स्कूलों व पंचायत घरों को होम क्वारन्टीन घर के रूप में बदल दिया गया। यहां बाहर से आने वाले गांव के लोगों को शिफ्ट करने साथ ही इनकी निगरानी के लिए स्वस्थ्य कर्मी व पंचायत कर्मी की तैनाती की गई है। इसके साथ ही इसका उल्लंघन करने पर अब मुकदमा भी दर्ज कराया जाएगा।

वहीं, बाहर से आने वाले लोगों की पहचान उजागर करने के लिए उनके बाहों पर लाल पट्टी बांध दी गई है। सीडीओ जोगिंदर सिंह ने बताया लोगो को शिफ्ट करने का काम देर रात शुरू कर दिया गया है। सोमवार को सभी को क्वारण्टाइन करने का काम पूरा किये जाने के निर्देश हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona Lockdown exodus : school and panchayat become quarantine home in Kanpur Dehat