DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  गोरखपुर में कोरोना का कहर: सात की मौत, 773 नए मरीज मिले

उत्तर प्रदेशगोरखपुर में कोरोना का कहर: सात की मौत, 773 नए मरीज मिले

वरिष्‍ठ संवाददाता ,गोरखपुर Published By: Ajay Singh
Fri, 16 Apr 2021 10:15 PM
गोरखपुर में कोरोना का कहर: सात की मौत, 773 नए मरीज मिले

उत्‍तर प्रदेश के गोरखपुर में कोरोना कहर बरपा रहा है। केस बढ़ने के साथ-साथ मरीजों की मौत भी बढ़ रही है। बीते 24 घंटे में 773 नए केस मिले हैं। इस दरम्यान बीआरडी मेडिकल कॉलेज में सात संक्रमितों की मौत हुई है। सभी गोरखपुर के रहने वाले हैं। हालांकि इन मौतों में केवल दो मौत पोर्टल पर अपलोड हो सकी है। यही वजह है कि विभाग ने केवल दो मौतों का आंकड़ा जारी किया है। वहीं संक्रमितों में सीआरडीपीजी की शिक्षिका, निजी बैंक के कर्मचारी, दीवानी न्यायालय के एक अधिकारी समेत 15 कर्मचारी शामिल हैं।

सीएमओ डॉ. सुधाकर पांडेय ने बताया कि 773 केस मिलने के बाद जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 27387 हो गई है। इसमें से 21982 संक्रमित स्वस्थ हो चुके हैं। संक्रमितों में अब तक 380 लोगों की मौत हो चुकी है। जिले में एक्टिव मरीजों का आंकड़ा पांच हजार के पार 5025 पहुंच गया है। बताया कि शुक्रवार को शहरी थाना क्षेत्र में 451 नए केस मिले हैं। जबकि ग्रामीण थाना क्षेत्र में कुल 264 संक्रमित मिले हैं। वहीं 58 ऐसे मामले हैं, जो अलग-अलग थाना क्षेत्रों के हैं। सीएमओ ने अपील की है कि लोग कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें। स्थिति बिगड़ती जा रही है। ऐसे में बचाव ही एक मात्र उपाय है।

बीआरडी में सात की मौत

बीआरडी मेडिकल कॉलेज में पिछले 24 घंटे के अंदर सात संक्रमितों की मौत हुई है। सभी गोरखपुर के रहने वाले हैं। मृतकों में दो महिला जिनकी उम्र क्रमश 65 और 55 वर्ष है। इनके अलावा रामजानकी नगर के रहने वाले 46 वर्षीय व्यक्ति, बहरामपुर के 59 वर्षीय व्यक्ति, नर‌सिंह पुर के 45 वर्षीय व्यक्ति, कुसुमी की रहने वाली 27 वर्षीय महिला और सिघाड़िया का रहने वाला 25 वर्षीय युवक शामिल हैं। सभी की मौत बीआरडी मेडिकल कॉलेज के कोविड वार्ड में हुई है।

 

सीएचसी के बाबू कोरोना पाजिटिव,दहशत

शुक्रवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के बड़े बाबू (क्लर्क) कोरोना जांच में पाजिटिव पाये जाने के बाद अस्पताल परिसर में दहशत फैल गई है। पाजिटिव हुए बड़े बाबू आइसोलेट गये हैं। सम्पर्क में आये डॉक्टर, फार्मासिस्ट व स्वास्थ्य कर्मी सतर्क हो गए हैं।

संबंधित खबरें